Blog Manager

Universal Article/Blog/News module

Current Affairs 5.12.2018

In: India
Like Up: (0)
Like Down: (0)
Created: 05 Dec 2018

5 दिसंबर की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ

1657 - शाहजहां के छोटे बेटे मुराद ने खुद को बादशाह घोषित किया।

1917 - रूस में नई क्रांतिकारी सरकार गठन तथा रूस-जर्मनी के बीच युद्ध विराम।

1943 - जापानी हवाई जहाज ने कोलकाता पर बम गिराया।

1946 - भारत में होमगार्ड संगठन की स्थापना हुई।

1950 - सिक्किम भारत का संरक्षित राज्य बना।

1960 - अफ्रीकी देश घाना ने बेल्जियम के साथ राजनयिक संबंध समाप्त किये।

1971 - भारत ने बंगलादेश को एक देश के रूप में मान्यता दी।

1974 - माल्टा गणराज्य घोषित।

1989 -मुलायम सिंह यादव पहली बार (उत्तर प्रदेश) के मुख्यमंत्री बने

1990 - विवादास्पद लेखक सलमान रुश्दी दो वर्ष के अंतराल के बाद पहली बार लोगों के सामने आये।

1992 - भारत के अयोध्या (उत्तर प्रदेश) में स्थित बाबरी मस्जिद का विवादास्पद ढांचा गिरा दिया गया। इसके साथ ही भारत के अनेक हिस्सों में दंगे भड़क उठे।

1993 - मुलायम सिंह यादव पुन: (उत्तर प्रदेश) के मुख्यमंत्री बने थे।

1997 - भगवान बुद्ध की जन्मस्थली लुम्बिनी, इटली में पोम्पेली और हम्रयूलेनियम स्थल, पाकिस्तान में शेरशाह सूरी निर्मित रोहतास का क़िला और बांग्लादेश में सुंदरवन को यूनेस्को ने विश्व धरोहर में शामिल या।

1998 - रूस 2002 में भारतीय नौसेना को 'क्रिवाक श्रेणी' के बहुउद्देश्यीय युद्धपोत देने पर सहमत।

1999 - चेचेन्या में रूस ने अस्थायी तौर पर सेना तैनात करने की घोषणा की। भारतीय सुंदरी युक्ता मुखी ‘मिस वर्ल्डचुनी गईं।

2000 - अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट ने राष्ट्रपति चुनाव में जार्ज बुश के पक्ष में फैसला दिया।

2001 - अफ़ग़ानिस्तान में हामिद करजई के नेतृत्व में अंतरिम सरकार के गठन पर चारों गुट सहमत।

2003 - चेचेन्या में ट्रेन में आत्मघाती हमले में 42 लोगों की मृत्यु, जबकि 160 घायल। राष्ट्रकुल देशों के शासनाध्यक्षों का चार दिवसीय सम्मेलन अबुजा में प्रारम्भ।

2005 - एक नये क़ानून द्वारा ब्रिटेन में समलैंगिक पुरुष (गो) और समलैंगिक स्त्री (लेस्बियन) का वैध सम्बन्ध स्थापित करने की मान्यता दी गयी।

2007 - अमेरिका में लड़ाकू विमान एफ़-16 मिसाइलरोधी प्रणाली से लैस किया गया। पाकिस्तान की सर्वोच्च न्यायालय ने आपातकाल तक मीडिया पर लगे प्रतिबन्धों को चुनौती देने वाली एक याचिका को खारिज किया।

2008 - रूस के राष्ट्रपति दामित्री मे देवेदेव ने अगली पीढ़ी की परमाणु अभियांत्रिकी को भारत के साथ संयुक्त रूप से विकसित करने का प्रस्ताव किया। काँग्रेस ने अशोक चाव्हाण को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री बनाने की घोषणा की।

2013 - यमन की राजधानी सेना में रक्षा मंत्रालय परिसर पर आतंकवादी हमले में 52 लोगों की मौत।

5 दिसंबर को जन्मे व्यक्ति

1969 - अंजलि भागवत - भारत की प्रसिद्ध महिला निशानेबाज़ हैं।

1938- रघुवीर चौधरी- गुजराती साहित्यकार

1932- नादिरा - हिन्दी फ़िल्मों की मशहूर अभिनेत्नी

1905 - शेख़ मोहम्मद अब्दुल्ला - जम्मू और कश्मीर के क्रांतिकारी नेता, जो बाद में इस राज्य के प्रधानमंत्री तथा मुख्यमंत्री बने।

1894- जोश मलीहाबादी, भारत और पाकिस्तान के प्रसिद्ध उर्दू कवि एच. सी. दासप्पा- भारत के क्रांतिकारियों में से एक।

1872 - भाई वीर सिंह - आधुनिक पंजाबी काव्य और गद्य के निर्माता के रूप में प्रसिद्ध कवि थे।

 

5 दिसंबर को हुए निधन

2016 - जयललिता - तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री एवं ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुन्नेत्र कड़गम (ए.आइ.ए.डी.एम.के.) पार्टी की प्रसिद्ध नेता थीं।

1941 - अमृता शेरगिल - प्रसिद्ध भारतीय महिला चित्रकार

1950 - अरबिंदो घोष - भारतीय लेखक

1951 - अवनीन्द्रनाथ ठाकुर, प्रख्यात कलाकार तथा साहित्यकार

1924- एस. सुब्रह्मण्य अय्यर, स्वतंत्रता सेनानी, शिक्षाविद्‌ और सामाजिक कार्यकर्ता

1955- मजाज़, प्रसिद्ध शायर

2013- दक्षिण अफ़्रीका के पूर्व राष्ट्रपति एवं भारत रत्न सम्मनित नेल्सन मंडेला

1961 - गुरबचन सिंह सालारिया, परमवीर चक्र से सम्मानित।

 

5 दिसंबर के महत्त्वपूर्ण अवसर एवं उत्सव

संविधान दिवस

 

इसरो के सबसे वजनी सैटेलाईट जीसैट-11 का सफल प्रक्षेपण किया गया

 

भारत के सबसे वजनी सैटेलाईट जीसैट-11 का 05 दिसंबर 2018 को प्रातः फ्रेंच गुयाना से एरियनस्पेस रॉकेट की मदद से सफल प्रक्षेपण किया गया. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने इस आशय की जानकारी देते हुए बताया कि जीसैट-11 का सफल प्रक्षेपण देश में ब्रॉडबैंड सेवा को और बेहतर बनाने में मदद करेगा.

दक्षिण अमेरिका के पूर्वोत्तर तटीय इलाके में स्थित फ्रांस के अधिकार वाले भूभाग फ्रेंच गुयाना के कौरू में स्थित एरियन प्रक्षेपण केन्द्र से भारतीय समयानुसार तड़के दो बजकर सात मिनट पर रॉकेट ने उड़ान भरी. एरियन-5 रॉकेट ने सफलतापूर्वक लगभग 33 मिनट में जीसैट-11 को उसकी कक्षा में स्थापित कर दिया.

इसरो द्वारा जारी जानकारी के अनुसार लगभग 30 मिनट की उड़ान के बाद जीसैट-11 अपने वाहक रॉकेट एरियन-5 से पृथक होकर और जियोसिंक्रोनस ऑर्बिट में स्थापित किया गया. यह कक्षा सैटेलाईट के लिए पहले से तय कक्षा के बेहद करीब है. आने वाले दिनों में चरणबद्ध तरीके से उसे जियोस्टेशनरी (भूस्थिर) कक्षा में भेजा जाएगा. जियोस्टेशनरी कक्षा की ऊंचाई भूमध्य रेखा से करीब 36,000 किलोमीटर होती है.

 

 

जीसैट 11 की आवश्यकता

जीसैट-11 इसरो के इंटरनेट बेस्ड सैटेलाइट सीरीज़ का हिस्सा है, जिसका उद्देश्य इंटरनेट की गति को बढ़ाना है. इसके तहत अंतरिक्ष में तीन सैटेलाइट भेजे जायेंगे. इसमें से पहला सैटेलाइट 19 जून, 2017 में भेजा जा चुका है और तीसरा सैटेलाइट इस साल के आखिरी में अथवा अगले वर्ष आरंभ में लॉन्च किया जा सकता है. बताया जा रहा है कि जीसैट-11 से साइबर सुरक्षा मजबूत होगी और इससे एक नया सुरक्षा कवच मिलेगा तथा भारत का बैंकिंग सिस्टम भी मजबूत होगा.

जीसैट-11 की विशेषताएं

 

  • जीसैट-11 उपग्रह का वजन 5.8 टन है तथा इसकी कुल लागत 1117 करोड़ रुपये है.
  • इसका प्रत्येक सौर पैनल 4 मीटर से भी बड़ा है तथा यह 11 किलोवाट ऊर्जा का उत्पादन करेगा.
  • सैटेलाइट के सफल प्रक्षेपण से भारत के पास अपना स्वयं का सैटेलाइट आधारित इंटरनेट होगा.
  • सैटेलाइट आधारित इंटरनेट से हाई स्पीड कनेक्टिविटी बढ़ जाएगी.
  • जीसैट-11 अगली पीढ़ी का 'हाई थ्रोपुट' संचार उपग्रह है. इसका जीवनकाल 15 साल से अधिक से ज्यादा का है.
  • इसे पहले 25 मई को प्रक्षेपित किया जाना था लेकिन इसरो ने अतिरिक्त तकनीकी जांच के कारण इसके प्रक्षेपण का कार्यक्रम बदल दिया था.
  • जीसैट-11 को जियोस्टेशनरी कक्षा में 74 डिग्री पूर्वी देशांतर पर रखा जाएगा. उसके बाद उसके दो सौर एरेज और चार एंटिना रिफ्लेक्टर भी कक्षा में स्थापित किए जाएंगे. कक्षा में सभी परीक्षण पूरे होने के बाद उपग्रह काम करने लगेगा.
  • जीसैट-11 भारत की मुख्य भूमि और द्वीपीय क्षेत्र में हाई-स्पीड डेटा सेवा मुहैया कराने में मददगार साबित होगा. उसमें के.यू. बैंड में 32 यूज़र बीम जबकि के.ए. बैंड में आठ हब बीम लगाए हैं.