Blog Manager

Universal Article/Blog/News module

Current Affairs 28.11.2018

In: Sports
Like Up: (0)
Like Down: (0)
Created: 28 Nov 2018

28 नवंबर की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ

1520 - फर्डिनान्द मैगलन ने प्रशांत महासागर को पार करने की शुरुआत की।

1660 - लंदन में द रॉयल सोसायटी का गठन हुआ।

1676 - बंगाल की खाड़ी के तट पर पूर्वी भारत के उपजाऊ क्षेत्र और महत्वपूर्ण बंदरगाह पुड्डचेरी पर फ़्रांसीसियों का कब्जा हो गया।

1814 - द टाइम्स ऑफ लंदन को पहली बार स्वचालित प्रिंट मशीन से छापा गया।

1821 - पनामा ने स्पेन से आजाद होने की घोषणा की।

1893 - न्यूजीलैंड में राष्ट्रीय चुनाव में पहली बार महिलाओं ने मतदान किया।

1912 - इस्माइल कादरी ने तुर्की से अल्बानिया के आजाद होने की घोषणा की।

1956 - चीन के प्रधानमंत्री चाऊ एन लाई भारत आए।

1966 - डोमनिकन रिपब्लिक ने संविधान अपनाया।

 1990 - चुनावों के उपरान्त जान मेजर ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बने।

1996 - कैप्टन इन्द्राणी सिंह एयरबस ए-300 विमान को कमांड करने वाली पहली महिला बनीं।

1997- प्रधानमंत्री आई के गुजराल ने अपने पद से इस्तीफा दिया।

1999 - एशिया कप हॉकी का ख़िताब दक्षिण कोरिया ने पाकिस्तान को हराकर जीता, भारत ने कांस्य पदक मलेशिया को हराकर जीता।

2001 - नेपाल ने माओवादियों से निपटने हेतु भारत से दो हैलीकॉप्टर मांगे।

2002 - कनाडा ने हरकत उज मुजाहिदीन और जैश-ए-मोहम्मद पर प्रतिबंध लगाया।

2006 - नेपाली सरकार और माओवादियों के मध्य हथियारों के मैनेजमेंट पर संधि सम्पन्न।

2007 - दो एशियाई देशों के बीच मधुर होते रिश्तों के चलते द्वितीय विश्वयुद्ध के बाद पहली बार चीन के युद्धपोत जापान भेजे गए।

2012 - सीरिया की राजधानी दमिश्क में दो कार बम धमाकों में 54 मरे और 120 घायल हुये।

 

28 नवंबर को जन्मे व्यक्ति

1927 - प्रमोद करण सेठी - प्रसिद्ध भारतीय चिकित्सक।

1945 - अमर गोस्वामी - भारत के प्रसिद्ध साहित्यकार व उपन्यासकार।

 

28 नवंबर को हुए निधन

1890- ज्योतिबा फुले- भारत के महान् विचारक, समाज सेवी तथा क्रान्तिकारी।

1989 - देवनारायण द्विवेदी - हिन्दी के प्रमुख उपन्यासकारों में से एक।

1962 - सी डे - बंगाल के प्रसिद्ध दृष्टिहीन गायक।

1994- भालजी पेंढारकर, प्रसिद्ध मराठी फ़िल्म निर्माता-निर्देशक।

1981 - शंकर शेष - हिन्दी के प्रसिद्ध नाटककार तथा सिनेमा कथा लेखक थे।

 

हॉकी विश्व कप 2018 का भुवनेश्वर में शुभारंभ

 

हॉकी विश्व कप 2018 का भुवनेश्वर में शुभारंभ हो गया है. मेजबान भारत 14वें हॉकी विश्व कप में अपने अभियान की शुरुआत की. यह मैच भुवनेश्वर के कलिंगा स्टेडियम पर खेला जा रहा है.

मेजबान भारत का पहला मैच दक्षिण अफ्रीका से होगा. आठ बार के ओलंपिक चैंपियन भारत ने अब तक सिर्फ एक बार विश्व कप जीता है.

हॉकी के इस महाकुंभ में विश्व की कुल 16 टीमें हिस्सा ले रही हैं, जो 28 नवंबर से 16 दिसंबर 2018 तक चलेगा.

 

16 टीमों को चार ग्रुपों में बांटा गया:

 

विश्व कप में 16 टीमों को चार ग्रुपों में बांटा गया है. मेजबान भारत को पूल 'सी' में जगह मिली है जबकि पाकिस्तान को पूल 'डी' में रखा गया है. इस विश्व कप में भारत अपना पहला मैच 28 नवंबर को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेलेगा.

 

ग्रुप ए- अर्जेंटीना, न्यूजीलैंड, स्पेन और फ्रांस

ग्रुप बी- ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, आयरलैंड और चीन

ग्रुप सी-भारत, बेल्जियम, कनाडा और दक्षिण अफ्रीका

ग्रुप डी-नेदरलैंड्स, जर्मनी, मलेशिया और पाकिस्तान

 

विश्व कप हॉकी:

 

विश्व कप हॉकी की शुरुआत वर्ष 1971 में हुई थी और अभी तक पाकिस्तान ने सबसे ज्यादा चार बार खिताब पर कब्ज़ा किया है. ऑस्ट्रेलिया और नेदरलैंड्स ने तीन-तीन और जर्मनी ने दो बार विश्व कप पर कब्ज़ा किया है. भारत ने वर्ष 1975 में विश्व कप पर कब्ज़ा किया था.

 

भारत में तीसरी बार हॉकी विश्व कप का आयोजन:

 

भारत में तीसरी बार हॉकी विश्व कप का आयोजन हो रहा है. इससे पहले वर्ष 1982 और वर्ष 2010 में भारत हॉकी विश्व कप का आयोजन कर चुका है.

 

194 देशों में प्रसारित:

 ओडिशा पुरुष हॉकी विश्व कप टूर्नामेंट के मैच विश्व के 194 देशों में प्रसारित किए जा रहे है. अंतर्राष्ट्रीय हॉकी महासंघ (एफआईएच) ने 26 नवम्बर 2018 को एक विज्ञप्ति के माध्यम से इसकी जानकारी देते हुए कहा कि वर्ष 2014 में हुए पिछले संस्करण की तुलना में इसके प्रसारण में 150 प्रतिशत की वृद्धि हुई है.

 

भारत 43 साल से नहीं जीता कोई पदक:

 वर्ष 1975 के बाद से एशियाई धुरंधर भारतीय टीम नीदरलैंड, जर्मनी और ऑस्ट्रेलिया के स्तर तक पहुंचने में नाकाम रही. पिछले चार दशक से यूरोपीय टीमों ने विश्व हॉकी पर दबदबा बनाये रखा है. भारत ने वर्ष 1975 के बाद सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन मुंबई में वर्ष 1992 में हुए विश्व कप में किया जब वह पांचवें स्थान पर रहा था. भारत पिछले 43 साल में विश्व कप का कोई भी पदक नही जीत सका. भारत के नाम केवल एक स्वर्ण पदक (1975), एक रजत पदक (1973) और एक कांस्य पदक(1971) सहित कुल तीन पदक हैं.

 

विश्व रैंकिंग नंबर वन पर ऑस्ट्रेलिया:

 विश्व हॉकी रैंकिंग में इस समय ऑस्ट्रेलिया पहले पायदान पर है. चार बार हॉकी विश्व कप का खिताब अपने नाम कर चुके पाकिस्तान की भूमिका भी इस टूर्नामेंट में काफी अहम मानी जा रही है.

 

पाकिस्तान विश्व रैंकिंग में 13वें पायदान पर है. इस समय भारत विश्व रैंकिंग में 5वें पायदान पर है और एशियाई देशों में उसकी रैंकिंग नंबर वन है.

 पिछली बार हॉकी विश्‍व कप का खिताब ऑस्ट्रेलिया के नाम रहा. वह फाइनल में नीदरलैंड को हराकर वर्ष 2014 में चैंपियन बना था.

 भारतीय टीम:

 

गोलकीपर:- पी.आर.श्रीजेश, कृष्णन बहादुर पाठक

 डिफेंडर:- हरमनप्रीत सिंह, गुरिंदर सिंह, वरुण कुमार, कोथाजीत सिंह, सुरेंद्र कुमार, जर्मनप्रीत सिंह, हार्दिक सिंह

 मिडफील्डर:- मनप्रीत सिंह (कप्तान), सुमित, नीलकंठ शर्मा, ललित कुमार उपाध्याय, चिंग्लेसाना सिंह

 फारवर्ड:- आकाशदीप सिंह, गुरजंत सिंह, मनदीप सिंह और दिलप्रीत सिंह

  

भारतीय महिला हॉकी टीम ने एशिया कप का खिताब जीता

 

भारतीय हॉकी टीम ने 05 नवम्बर 2017 को महिला एशिया कप के फाइनल में चीन को मात देते हुए खिताब अपने नाम कर लिया है. भारत ने तय समय में मुकाबला 1-1 से ड्रॉ रहने के बाद पेनाल्टी शूटआउट में चीन को 5-4 से मात देते हुए खिताब पर कब्जा जमाया.

 भारत ने यह खिताब 13 साल बाद जीता है. इसी के साथ भारतीय टीम ने वर्ष 2018 में होने वाले विश्व कप में खेलने की योग्यता हासिल कर ली है. भारत ने वर्ष 2004 के बाद पहली बार खिताब पर कब्जा जमाया हैं.

 हीना सिद्धू ने राष्ट्रमंडल शूटिंग चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीता

 

इससे संबंधित मुख्य तथ्य:

 

  • भारत ने 25वें मिनट में नवजोत कौर के गोल से बढ़त बनाई, लेकिन चीन तियानतियान के 47वें मिनट में किए गए गोल से बराबरी करने में सफल रहा. इससे निर्धारित समय तक स्कोर 1-1 से बराबर था.

 

  • भारत तथा चीन की टीम पेनाल्टी शूटआउट में पांच-पांच मौकों के बाद 4-4 की बराबरी पर थीं. दोनों टीम ने एक-एक मौका गंवाया था. इसके बाद सडेन डेथ का आयोजन किया गया, जिसमें चीन गोल नहीं कर सका जबकि रितू रानी ने गोल करते हुए भारत को 5-4 से जीत दिला दी.

 

  • भारतीय टीम चौथी बार इस टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंची थी. वर्ष 1999 में उसे अपनी मेजबानी में फाइनल में दक्षिण कोरिया के हाथों 2-3 की हार मिली थी.

 

  • भारतीय टीम ने वर्ष 2009 में बैंकॉक में आयोजित हुए टूर्नामेंट में फाइनल तक पहुँच गया था, लेकिन चीन ने 5-3 से मात देकर खिताब जीत लिया.

 

  • भारत ने फाइनल से पहले तक इस टूर्नामेंट में 27 गोल किए थे और उसकी ताकत पेनाल्टी कॉर्नर को गोल में तब्दील करना रही. फाइनल के बाद इस टूर्नामेंट में गोल की संख्या 32 हो गई.

 

  • भारतीय महिला राष्ट्रीय हॉकी टीम महिला हॉकी के खेल में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाला दल है.