Blog Manager

Universal Article/Blog/News module

Current Affairs 26.11.2018

In: India
Like Up: (0)
Like Down: (0)
Created: 26 Nov 2018

26 नवंबर की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ

1885 - पहली बार उल्कापिंड की तस्वीर ली गयी।

1932 - महान् क्रिकेटर डॉन ब्रैडमैन ने प्रथम श्रेणी क्रिकेट में दस हजार रन बनाये।

1948 - नेशनल कैडेट कोर की स्थापना हुई।

1949 - आजाद भारत के संविधान पर संविधान सभा के अध्यक्ष ने हस्ताक्षर किया।

1960 - भारत में पहली बार कानपुर एवं लखनऊ के बीच एसटीडी सेवा शुरु हुई।

1967 - लिस्बन में बादल फटने से करीब 450 लोग मरे।

1984 - इराक एवं अमेरिका ने कूटनीतिक संबंधों को पुन: स्थापित किया।

1996 - मंगल ग्रह पर जीवन की संभावनाओं का पता लगाने के लिए अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने अंतरिक्ष यान 'मार्स ग्लोबल सर्वेयर' को अंतरिक्ष में भेजा (7 नवम्बर); संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने इराक के संदर्भ में 'आयल फ़ॉर फ़ुड डील' प्रस्ताव सर्वसम्मति से पारित किया।

1997 - पाक सुप्रीम कोर्ट के दो जजों ने मुख्य न्यायाधीश को निलम्बित किया।

1998 - तुर्की के प्रधानमंत्री मेसुत यिल्माज ने संसद में अपनी सरकार के विश्वासमत हासिल नहीं कर पाने के बाद इस्तीफ़ा दिया, कंबोडिया के वर्तमान प्रधानमंत्री हुनसेन को औपचारिक रूप से पुन: देश का नया प्रधानमंत्री नियुक्त किया गया, माहे (सेशल्स) में इस्रायल की 'लीनोर अबार्गिल'

1998 की 'मिस वर्ल्ड' चुनी गईं। टोनी ब्लेयर आॅयरलैंड की संसद को संबोधित करने वाले पहले ब्रिटिश प्रधानमंत्री बने। 2001 - नेपाल में 200 माओवादी विद्रोही मारे गये; देश में आपातकाल लागू।

2002 - बीबीसी के सर्वेक्षण में विंस्टन चर्चिल महानतम ब्रिटिश नागरिक चुने गये।

2006 - इराक बम धमाके में 202 लोगों की जान गई।

2008 - भारत के मुंबई नगर में आत्मघाती आतंकवादी हमला हुआ। आतंकवादियों ने ताज होटल में घुसकर अनेक अतिथियों को बंधक बना लिया। इसे भारतीय सेना ने तीन दिनों की कार्यवाई के पश्चात् मुक्त करा लिया। मुंबई में हुए आतंकवादी हमले में 164 लोग मरे, 250 से अधिक घायल।

2012 - सीरिया में हवाई हमले में दस बच्चों की मौत, 15 घायल। अरविंद केजरीवाल ने एक नये राजनैतिक दल आम आदमी पार्टी का गठन किया।

26 नवंबर को जन्मे व्यक्ति

1919 - राम शरण शर्मा - भारत के प्रसिद्ध इतिहासकार और शिक्षाविद।

1921- वर्गीज कुरियन, प्रसिद्ध उद्योगपति एवं श्वेत क्रांति के जनक

1923 - वी. के. मूर्ति - हिन्दी फ़िल्मों के प्रसिद्ध सिनेमेटोग्राफ़र

1926 - यशपाल (वैज्ञानिक) - भारत के मशहूर वैज्ञानिक और शिक्षाविद थे।

1926- रवि राय, प्रसिद्ध राजनीतिज्ञ, पूर्व लोकसभा अध्यक्ष

1881 - नाथूराम प्रेमी - प्रसिद्ध लेखक, कवि, भाषाविद और सम्पादक।

 

26 नवंबर को हुए निधन

2014 - तपन राय चौधरी - प्रसिद्ध इतिहासकार।

2008 - हेमंत करकरे - 1982 बैच के आईपीएस अधिकारी और मुम्बई के आतंक विरोधी दस्ते के प्रमुख थे।

2008 - विजय सालस्कर - मुंबई पुलिस में सेवारत एक वरिष्ठ पुलिस इंस्पेक्टर और एनकाउंटर स्पेशलिस्ट थे।

26 नवंबर के महत्त्वपूर्ण अवसर एवं उत्सव विश्व पर्यावरण संरक्षण दिवस विधि दिवस राष्ट्रीय संविधान दिवस

 

केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने मौसम विज्ञान संबंधी योजनाओं को मंजूरी प्रदान की

 

प्रधानमंत्री की अध्‍यक्षता में मंत्रिमंडल की आर्थिक मामलों की समिति द्वारा समग्र योजना ‘एटमॉस्‍फेयर एंड क्‍लाइमेट रिसर्चमॉडलिंग ओब्सर्विंग सिस्‍टम्‍स एंड सर्विसेज़ (ACROSS) की नौ उप-योजनाओं को 1450 करोड़ रुपए की अनुमानित लागत से वर्ष 2017 से 2020 तक की अवधि के दौरान जारी रखने हेतु अपनी मंज़ूरी दे दी गई है.

 

इन योजनाओं का कार्यान्‍वयन पृथ्‍वी विज्ञान मंत्रालय द्वारा अपनी प्रमुख संस्थाओं यथा, भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD), भारतीय उष्‍णकटिबंध मौसम विज्ञान संस्‍थान (IITM), नेशनल सेंटर फॉर मीडियम रेंज वेदर फॉरकास्टिंग (NCMRWF) और भारतीय राष्‍ट्रीय महासागर सूचना सेवा केंद्र (INCOIS) के माध्‍यम से किया जाएगा.

 

योजना के मुख्य बिंदु

 

एक्रॉस (ACROSS) योजना पृथ्‍वी विज्ञान मंत्रालय से संबंधित है जो चक्रवात, तूफान, लहर, तेज़ गर्मी और गरज के साथ बारिश जैसे विभिन्‍न पहलुओं से निपटती है.

एक्रॉस (ACROSS) योजना 9 उप-कार्यक्रमों से मिलकर बनी है जो बहु-विषयक और बहु-संस्‍थानीय स्‍वरूप की हैं. इस योजना का उद्देश्‍य समाज की बेहतरी के लिये एक विश्वसनीय मौसम और जलवायु पूर्वानुमान प्रदान करना है.

इस योजना का उद्देश्‍य कृषि-मौसमविज्ञान संबंधी सेवाएँ, विमानन सेवाएँ, पर्यावरण संबंधी निगरानी सेवाएँ, जल-मौसमविज्ञान संबंधी सेवाएँ, जलवायु सेवाएँ, पर्यटन, तीर्थयात्रा, पर्वतारोहण जैसी सभी सेवाओं को अंतिम उपयोगकर्ता तक समय पर पहुँचाने के कार्य को सुनिश्चित करने के लिये सतत् अवलोकनों, गहन अनुसंधान विकास और प्रभावी विस्‍तार तथा संचार रणनीतियों को प्रभावी रूप से अपनाकर मौसम और जलवायु पूर्वानुमान की कुशलता में सुधार लाना है.

मौसम आधारित सेवाओं को आम लोगों तक पहुँचाने हेतु भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद् का कृषि विज्ञान केंद्र, विश्‍वविद्यालय और स्‍थानीय नगर पालिकाओं जैसी एजेंसियों के इसमें शामिल होने से एवं बड़ी संख्‍या में वैज्ञानिक तथा तकनीकी कर्मियों के साथ-साथ आवश्‍यक प्रशासनिक सहायता की ज़रूरत के कारण इस योजना द्वारा बेहतर रोज़गार का सृजन होगा.

पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय

 

राष्‍ट्रपति की अधिसूचना के माध्‍यम से 12 जुलाई, 2006 को नए पृथ्‍वी विज्ञान मंत्रालय (एमओईएस) की स्‍थापना की गई जिसमें भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD), भारतीय उष्‍णदेशीय मौसम विज्ञान संस्‍थान (IITM) और राष्‍ट्रीय मध्‍यम अवधि मौसम पूर्वानुमान केंद्र (NCRWFM) को इसके प्रशासनिक नियंत्रण में लाया गया.

सरकार ने अंतरिक्ष और परमाणु ऊर्जा आयोग के तर्ज पर पृथ्‍वी आयोग की स्‍थापना को भी अनुमोदन प्रदान कर दिया है.

पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के पास मौसम, जलवायु और प्राकृतिक खतरे से संबंधित घटनाओं का पूर्वानुमान करने के लिये क्षमता का विकास एवं सुधार करने हेतु अनुसंधान और विकास गतिविधियों को आयोजित करने का अधिकार है.