Blog Manager

Universal Article/Blog/News module

Current Affairs 25.12.2018

In: India
Like Up: (0)
Like Down: (0)
Created: 25 Dec 2018

25 दिसंबर की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ

1763 - भरतपुर के महाराजा सूरजमल की हत्या।

1771 - मुग़ल शासक शाह आलम द्वितीय मराठाओं के संरक्षण में दिल्ली के सिंहासन पर बैठे।

1892 - स्वामी विवेकानंद कन्याकुमारी में समुद्र के मध्य स्थित चट्टान पर तीन दिन तक साधना की।

1924 - पहला अखिल भारतीय कम्युनिस्ट कांफ्रेस कानपुर में संपन्न।

1946 - ताईवान में संविधान को अंगीकार किया गया।

1947 - पाकिस्तानी सेना ने झनगड़ को कब्जे में ले लिया था।

1962 - सोवियत संघ ने नोवाया जेमल्या क्षेत्र में परमाणु परीक्षण किया।

1977 - हालीवुड के प्रसिद्ध फ़िल्म अभिनेता चार्ली चैपलिन का निधन।

1974 - राेम जा रहे एयर इंडिया के विमान बोइंग 747 का अपहरण।

1991 - राष्ट्रपति मिखाइल एस. गोर्बाचोव के त्यागपत्र के साथ ही सोवियत संघ का विभाजन एवं उसका अस्तित्व समाप्त।

1998 - रूस एवं बेलारूस द्वारा एक संयुक्त संघ बनाये जाने संबंधी समझौते पर हस्ताक्षर।

2002 - चीन और बांग्लादेश के बीच रक्षा समझौता।

2005 - मारीशस में 400 वर्ष पूर्व विलुप्त 'डोडो' पक्षी का दो हज़ार वर्ष पुराना अवशेष मिला।

2007 - कनाडा के प्रसिद्ध जॉज पियानोवादक और संगीतकार आस्कर पीटरसन का निधन।

2008- भारत के द्वारा अंतरिक्ष में भेजे गये चन्द्रयान-1 के 11 में से एक पेलोडर्स ने चन्द्रमा की नई तस्वीर भेजी।

2012 - दक्षिणी कजाखस्तान के शिमकेंट शहर में एन्टोनोव कम्पनी का एएन-72 विमान दुर्घटनाग्रस्त हुआ जिसमें 27 लोगों की मौत हो गई।

 

25 दिसंबर को जन्मे व्यक्ति

1861 - मदनमोहन मालवीय - महान् स्वतंत्रता सेनानी, राजनीतिज्ञ, शिक्षाविद और एक बड़े समाज सुधारक भी थे।

1872 - गंगानाथ झा - संस्कृत भाषा के प्रकाण्ड पंडित, जिन्होंने हिन्दी, अंग्रेज़ी और मैथिली भाषा में दार्शनिक विषयों पर उच्च कोटि के मौलिक ग्रन्थों की रचना की।

1876 - मुहम्मद अली जिन्ना - ब्रिटिशकालीन भारत के प्रमुख नेता और 'मुस्लिम लीग' के अध्यक्ष।

1923 - धर्मवीर भारती, हिन्दी साहित्यकार का जन्म प्रयाग में।

1924 - अटल बिहारी वाजपेयी - भारत के दसवें प्रधानमंत्री।

1927 - राम नारायण 1978 - मनोज कुमार चौधरी, सेप कोन्सुल्तंत इंजिनियर का जन्म प्रयाग (इलाहाबाद) में हुआ।

1919 - नौशाद, प्रसिद्ध संगीतकार 1944 - मणि कौल, फ़िल्म निर्देशक 1925 - सतीश गुजराल, प्रसिद्ध चित्रकार

1880 - मुख़्तार अहमद अंसारी - एक प्रसिद्ध चिकित्सक, प्रसिद्ध राष्ट्रवादी मुस्लिम नेता, जिन्होंने भारतीय राष्ट्रीय आन्दोलन में भाग लिया।

1642 - आइज़ैक न्यूटन - महान् गणितज्ञ, भौतिक वैज्ञानिक, ज्योतिर्विद एवं दार्शनिक थे।

 

25 दिसंबर को हुए निधन

2015 - साधना - भारतीय सिनेमा की प्रसिद्ध अभिनेत्री।

2005 - सरत चन्द्र सिन्हा - भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के नेता और असम के मुख्यमंत्री थे।

1994 - ज्ञानी ज़ैल सिंह - भारत के भू.पू. राष्ट्रपति।

1972 - चक्रवर्ती राजागोपालाचारी - भारत के अंतिम गवर्नर जनरल का तमिलनाडु की राजधानी मद्रास(अब चेन्नई)।

2011 -सत्यदेव दुबे- नाटककार, पटकथा लेखक, फ़िल्म व नाट्य निर्देशक 1846 - स्वाति तिरुनल - त्रावणकोर, केरल के महाराजा तथा दक्षिण भारतीय कर्नाटक संगीत परंपरा के सर्वोत्कृष्ट संगीतज्ञों में से एक।

1959 - प्रेम अदीब - भारतीय अभिनेता।

25 दिसंबर के महत्त्वपूर्ण अवसर एवं उत्सव क्रिसमस –

यह ईसाई धर्म का एक उत्सव है, जो 24 दिसंबर की पूर्वसंध्या पर आरंभ होता है।

सुशासन दिवस

 

माकपा के वरिष्ठ नेता निरूपम सेन का निधन

 

मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के दिग्गज नेता व पश्चिम बंगाल के पूर्व वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री निरूपम सेन का 24 दिसंबर 2018 को निधन हो गया. वे 72 साल के थे. वे पिछले दो साल से किडनी की बीमारी से जूझ रहे थे.

निरूपम सेन को वर्ष 2013 में ब्रेन अटैक हुआ था, जिसके बाद वह मल्टी ऑर्गन फेलियर से गुजर रहे थे. उनके कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था और निजी अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था.

भट्टाचार्य एवं सेन के नेतृत्व में ही वाममोर्चा ने राज्य में औद्योगीकरण का अभियान शुरू किया था और निजी निवेश की प्रक्रिया शुरू की थी. नीति में इस बदलाव ने उन्हें काफी फायदा पहुंचाया. वर्ष 2006 के विधानसभा चुनाव में वाममोर्चा को जबर्दस्त जीत हासिल हुई थी.

 

निरूपम सेन के बारे में:

  • निरूपम सेन का जन्म 08 अक्टूबर 1946 को हुआ था.
  • निरूपम सेन ने वर्ष 2001 और 2006 में बर्दवान दक्षिण सीट से विधानसभा चुनाव जीते थे.
  • निरुपम सेन को बुद्धदेव भट्टाचार्य शासन के दौरान बंगाल में औद्योगिक सुधार अभियान की जिम्मेदारी दी गई थी और उसके बाद उन्हें कैबिनेट में जगह दी गई थी. पश्चिम बंगाल में वाम मोर्चे की सरकार में उनकी अहम भूमिका थी.
  • वे जब पश्चिम बंगाल में उद्योग मंत्री थे तब उन्होंने कई औद्योगिक परियोजनाओं की शुरुआत की थी.
  • सेन पूर्व में पोलित ब्यूरो के सदस्य भी रहे.
  • सेन को बंगाल के औद्योगिक सुधारों का जनक भी माना जाता है. सिंगुर और नंदीग्राम में औद्योगिक इकाई की स्थापना की शुरुआत उन्होंने ही की थी.
  • साल 2015 में बुद्धदेव भट्टाचार्य के साथ ही निरुपम सेन ने भी पोलित ब्यूरो की सदस्यता छोड़ दी थी. इसके साथ ही शारीरिक अक्षमता के कारण पार्टी के अन्य पदों से भी इस्तीफा दे दिया था.

No comments yet...

Leave your comment

82620

Character Limit 400