Blog Manager

Universal Article/Blog/News module

Current Affairs 23.11.2018

In: Sports
Like Up: (0)
Like Down: (0)
Created: 23 Nov 2018

23 नवंबर की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ

1165 - पोप एलेक्जेंडर तृतीय निर्वासन के बाद रोम वापस लौटे।

1744 - ब्रिटिश प्रधानमंत्री जान कार्टरे ने इस्तीफा दिया।

1890 - इटली में आम चुनाव हुये।

1892 - लोमानी कांगो के युद्ध में बेल्जियम ने अरब को हराया।

1904 - अमेरिका के सेंट लुईस में तीसरे ओलंपिक खेलों का समापन।

1946 - वियतनाम के हैफ्योंग शहर में फ्रांसीसी नौसेना के जहाज में लगी भीषण आग, छह हजार लोगों की मौत। 1983 - भारत में पहली बार राष्ट्रमंडल शिखर सम्मेलन का आयोजन हुआ।

1984 - लंदन के व्यस्ततम ऑक्सफोर्ड सर्कस स्टेशन पर आग लगने से क़रीब एक हज़ार लोग फंस गए थे। 1996- इथियोपिया के एक अपहृत विमान का ईंधन समाप्त होने पर वो हिंद महासागर में जा गिरा. इस विमान में चालक दल सहित कुल 175 लोग सवार थे जिनमें से कम से कम 100 लोग मारे गए।

1997 - साहित्य अकादमी पुरस्कार विजेता निराद सी चौधरी ने अपने जीवन के 100 वर्ष पूरे किये।

2002 - जी-20 की बैठक नई दिल्ली में शुरू। नाइजीरिया में प्रस्तावित विश्व सुंदरी प्रतियोगिता को लंदन स्थानांतरित करने का फैसला लिया गया था।

2006 - अमेरिका ने रूस की जेट निर्माण कम्पनी सुखोई से प्रतिबंध हटाया।

2007 - आस्ट्रेलिया में हुए चुनाव में लेबर पार्टी की जीत हुई।

2008- जम्मू-कश्मीर विधानसभा चुनाव के लिए मतदान के दूसरे चरण में 65% वोट डाले गये।

2009 - फिलीपींन्स में 32 मीडियाकर्मियों की हत्या।

 

23 नवंबर को जन्मे व्यक्ति

1914 - कृश्न चन्दर - हिन्दी दशक के प्रमुख यशस्वी कथाकार।

1926 - सत्य साईं बाबा - आध्यात्मिक गुरु

1930 - गीता दत्त, प्रसिद्ध पा‌र्श्वगायिका

1897 - नीरद चन्द्र चौधरी - भारत में जन्मे प्रसिद्ध बांग्ला तथा अंग्रेज़ी लेखक और विद्वान।

 

23 नवंबर को हुए निधन

1912 - सखाराम गणेश देउसकर -क्रांतिकारी लेखक, इतिहासकार तथा पत्रकार।

1977 - प्रकाशवीर शास्त्री - संसद के लोकसभा सदस्य और संस्कृत के विद्वान् साथ ही आर्य समाज के नेता के रूप में भी प्रसिद्ध।

1937 - जगदीश चंद्र बोस - वैज्ञानिक

1990 - रोल्‍ड डाॅल - 20वीं सदी के सबसे महान् लेखकों में शुमार।

23 नवंबर के महत्त्वपूर्ण अवसर एवं उत्सव राष्ट्रीय औषधि दिवस (सप्ताह) राष्ट्रीय एकता दिवस (सप्ताह)

 

वसीम जाफर रणजी ट्रॉफी में 11,000 रन बनाने वाले पहले खिलाड़ी बने

घरेलू क्रिकेट में रन बटोरने वाले भारतीय टेस्ट टीम के पूर्व ओपनर वसीम जाफर ने अपने नाम एक नया रिकॉर्ड दर्ज करा लिया है. वह रणजी ट्रॉफी में 11,000 रन बनाने वाले पहले बल्लेबाज बन गए हैं. 

जाफर ने विदर्भ की तरफ से बड़ौदा के खिलाफ 153 रन की शानदार खेली और इस बीच 11,000 रन भी पूरे किए. जाफर ने इस बीच फैज फजल (151) के साथ 300 रन की साझेदारी की.

वसीम जाफ़र का रिकॉर्ड

•    यह चौथा अवसर है जब उन्होंने रणजी ट्रॉफी में 300 या इससे अधिक रन की साझेदारी की. 

•    इस मामले में उन्होंने विजय हजारे के रिकॉर्ड की बराबरी की. 

•    रणजी ट्रॉफी में जाफर के बाद सर्वाधिक रन मुंबई के उनके पूर्व साथी अमोल मजमूदार (9202) और मध्य प्रदेश के देवेंद्र बुंदेला (9201) ने बनाए हैं. 

•    जाफर के नाम पर रणजी ट्राफी में सर्वाधिक 37 शतक और 81 अर्धशतक भी दर्ज हैं.

•    चालीस वर्षीय वसीम जाफर रणजी ट्रॉफी में मुंबई की ओर से भी खेल चुके हैं. उन्होंने ओपनर की हैसियत से भारत की ओर से भी 31 टेस्ट  मैच और दो वनडे खेले हैं. 

•    टेस्ट क्रिकेट में उनके नाम पर 34.1 के औसत से 1944 रन हैं, इस दौरान 212 रन उनका सर्वोच्च स्कोर रहा है. 

•    टेस्ट क्रिकेट में पांच शतक और 11 अर्धशतक वसीम जाफर के नाम पर दर्ज हैं. हालांकि वनडे इंटरनेशनल का उनका सफर बेहद छोटा रहा, दो वनडे में वे केवल 10 रन ही बना पाए.

रणजी ट्रॉफी के बारे में

देश की सबसे प्रतिष्ठित घरेलू क्रिकेट प्रतियोगिता रणजी ट्रॉफी का आरंभ जुलाई 1934 में हुआ था. प्रतियोगिता का पहला मैच 4 नवंबर 1934 को चेपक स्टेडियम में मद्रास और मैसूर के बीच आयोजित किया गया था. इसका नाम भारत के पहले अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खिलाड़ी रणजीत सिंह के नाम पर पड़ा, जिन्हें प्यार से रणजी कहा जाता था. रणजीत सिंह इंग्लैंड और ससेक्स की टीमों की ओर से क्रिकेट खेला करते थे.

रणजी ट्रॉफी का प्रारूप दो चरणों में होता है. पहले चरण में राउंड-रॉबिन लीग मैच खेले जाते हैं दूसरे चरण में यह नॉक-आऊट हो जाता है. राउंड रोबिन मैच के लिए चार दिन और नॉकआउट मैच के लिए यह सीमा पांच दिन है. इसमें प्रत्येक टीम को दो बार बल्लेबाज़ी और दो बार गेंदबाज़ी करनी होती है. नॉकआउट चरण में यदि मैच ड्रॉ रहता है तो पहले पारी के आधार पर टीम को जीत मिलती है.