Blog Manager

Universal Article/Blog/News module

Current Affairs 23.02.2019

In: India
Like Up: (0)
Like Down: (0)
Created: 25 Feb 2019

23 फ़रवरी की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ

 

1886 - अमेरिका के रसायनशास्त्री और आविष्कारक मार्टिन हेल ने अलम्यूनियम की खोज की।

1940 - रूसी सेनाओं ने यूनान के समीप स्थित लासी द्वीप पर कब्जा किया।

1952 - कर्मचारी भविष्य निधि और विविध प्रावधान अधिनियम पारित किया गया।

1970 - गयाना देश गणराज्य बना और आज के दिन को इस देश का राष्ट्रीय दिवस घोषित किया गया।

1998 - जैविक एवं रासायनिक हथियारों की जांच को लेकर हुए गतिरोध को समाप्त करने के लिए सं.रा. महासचिव कोफी अन्नान व इराकी उपप्रधानमंत्री तारिक अजीज के बीच ऐतिहासिक समझौता सम्पन्न, विश्व में पहली बार बछड़े की प्रतिकृति क्लोन सं.रा. अमेरिका में तैयार।

2001 - अमेरिकी सीनेट द्वारा सीटीबीटी खारिज, प्रक्षेपास्त्र रक्षा प्रणाली जारी रखने की घोषणा।

2003 - कनाडा के डेविसन ने विश्वकप का सबसे तेज़ शतक लगाकर

1983 में बनाये गये कपिलदेव का रिकार्ड तोड़ा।

 2005 - अफ़ग़ानिस्तान के राष्ट्रपति हामिद करजई तीन दिवसीय यात्रा पर भारत पहुँचे।

2006 - ईराक में जातीय हिंसा में 159 लोग मारे गये।

2007 - पाकिस्तान ने शाहीन-2 का परीक्षण किया।

2008- 10 साल बाद चुनार सीमेण्ट फैक्ट्री में उत्पादन शुरू हुआ। रक्षामंत्री ए.के. एंटनी ने जेट ट्रेनर हॉक विमान को देश के बेड़े में शामिल करने की औपचारिक घोशणा की। कोलंबो में हुए एक विस्फोट में 18 लोग घायल हुए। 2009- भारतीय तीरंदाज थाईलैंड की राजधानी बैंकॉक में एशियाई ग्रां प्री तीरंदाजी चैम्पियनशिप में टीम स्पर्धा में तीन रजत पदक जीते।

2010- 2962वें वन डे में बनाए गए पहला दोहरा शतक बनाने वाले सचिन की बदौलत भारत ने दक्षिण अफ्रिका से ग्वालियर के कैप्टन रूपसिंह स्टेडियम में खेला गया एकदिवसीय मैच 153 रनों से जीत लिया। 402 रनों के लक्ष्य के जबाब में दक्षिण अफ्रीका की पूरी टीम 43वें ओवर में 248 रन बनाकर आउट हो गई। इसके साथ ही भारत ने तीन मैचों की शृंखला में 2-0 की अजेय बढ़त हासिल कर ली। भारत के मशहूर चित्रकार एम.एफ. हुसैन को कतर की नागरिकता प्रदान कर दी गई।

23 फ़रवरी को जन्मे व्यक्ति

1969 - भाग्यश्री

1982 - कर्ण सिंह, भारतीय राजनेता

1983 - अज़ीज़ अंसारी, भारतीय/अमेरिकन हास्य अभिनेता

1954 - बाबा हरदेव सिंह - भारत के प्रसिद्ध संत और संत निरंकारी मिशन के आध्यात्मिक गुरु थे।

 

23 फ़रवरी को हुए निधन

1468 - छपाई की मशीन का आविष्कार करने वाले यूहेन गोटेनबर्ग।

1969 - वृंदावनलाल वर्मा, ऐतिहासिक उपन्यासकार एवं निबंधकार

1969 - मधुबाला, भारतीय फ़िल्म अभिनेत्री

1990 - अमृतलाल नागर, साहित्य जगत् में उपन्यासकार के रूप में सर्वाधिक ख्याति प्राप्त हुई

2004 - विजय आनन्द

 

उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने कई रेल परियोजनाओं का शुभारम्भ किया

इस अवसर पर केंद्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री थावरचंद गहलोत, केंद्रीय रेल और कोयला मंत्री पीयूष गोयल, आंध्र प्रदेश के नगरपालिका प्रशासन मंत्री पोंगुरु नारायण, आंध्र प्रदेश के कृषि, बागवानी, रेशम कीट-पालन, कृषि संसाधन मंत्री सोमीरेड्डी चंद्रमोहन रेड्डी उपस्थित थे.

 

मुख्य बिंदु:

  • नेल्‍लोर रेलवे स्टेशन का पुनर्विकास और कृष्णापटनम से रापुर स्टेशन तक के सभी रेलवे स्टेशनों पर यात्री सुविधाएं विकसित करने के कार्यों की आधारशिला रखी. यात्री हित की अन्‍य पहलों में नेल्लोर-चेन्नई सेंट्रल एमईएमयू सेवा का शुभारम्‍भ शामिल है. इससे दिन के समय नेल्लोर शहर से चेन्नई तक यात्रा सुविधा उपलब्‍ध होगी.
  • इसके अलावा उपराष्‍ट्रपति ने नेल्लोर, गुंटूर और रेनिगुटां रेलवे स्टेशनों पर उच्च गति की वाई-फाई सेवा भी समर्पित की. उपराष्‍ट्रपति ने अक्कमपेट रेलवे स्टेशन पर नया बुकिंग कार्यालय, तिरुवोट्टियूर रेलवे स्टेशन पर नया फुट ओवर ब्रिज, नया बुकिंग कार्यालय और गुम्मिडिपुंडी में लेवल क्रॉसिंग के बदले नया सब-वे भी समर्पित किया.
  • उपराष्ट्रपति ने तिरुपति रेलवे स्टेशन पर (वीडियो लिंक के जरिए) नवीनतम यात्री सुविधाओं और नेल्लोर दक्षिण रेलवे स्टेशन पर नए फुट ओवर ब्रिज का भी उद्घाटन किया. गुडूर को विजयवाड़ा से जोड़ने के लिए एक नई इंटरसिटी ट्रेन चलाने के उपराष्ट्रपति के सुझाव पर प्रतिक्रिया देते हुए रेलमंत्री पीयूष गोयल ने इस अवसर पर घोषणा की कि शीघ्र ही दिन के समय चलने वाली एक नई रेलगाड़ी शुरू की जाएगी.
  • ओबुलावरिपल्ले से कृष्णापटनम बंदरगाह तक की नई रेल लाइन बन जाने के बाद दूरी 72 किमी तक कम होगी और माल परिवहन के लिए निर्बाध संपर्कता उपलब्‍ध होगी, क्योंकि यह लाइन वेंकटचलम स्टेशन पर विजयवाड़ा-गुडूर मुख्य लाइन से बंदरगाह को जोड़ती है.
  • क्षेत्र के विकास के लिए कृष्णापटनम बंदरगाह-ओबुलावरिपल्ले लाइन के महत्व की दृष्टि से सबसे पहले यह प्रस्ताव अटल बिहारी वाजपेयी के मंत्रिमंडल में जब नीतीश कुमार रेल मंत्री थे तब रखा था और तब से वे इसके लिए प्रयास कर रहे थे.
  • वेंकटचलम से रापुर तक यात्री सेवा शुरू होने से सात स्टेशनों के यात्रियों की लंबे समय से की जा रही मांग पूरी होगी और कई रेल परियोजनाओं से संपर्कता में काफी सुधार होगा.

No comments yet...

Leave your comment

35534

Character Limit 400