Blog Manager

Universal Article/Blog/News module

Current Affairs 19.02.2019

In: India
Like Up: (0)
Like Down: (0)
Created: 21 Feb 2019

19 फ़रवरी की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ

 

1389 - दिल्ली के सुल्तान गयासुद्दीन तुग़लक़ द्वितीय की हत्या हुई।

1570 - फ़्रांसीसी सेना की मदद से एंजाऊ के ड्यूक ने दक्षिणी नीदरलैंड पर हमला किया।

1618 - वेनिस शांति संधि के तहत वेनिस और आस्ट्रेलिया का युद्ध समाप्त हुआ।

1630 - शिवाजी का जन्म जुन्नेर में हुआ।

1674 - ब्रिटिश फ़ौजें डच युद्ध से हट गईं।

 1719 - मुग़ल शासक फर्रुख सियर की हत्या।

1807 - तुर्की के साथ युद्ध में रूस को मदद देने ब्रिटिश सैनिक पहुँचे।

1891 - अमृत बाज़ार पत्रिका का प्रकाशन दैनिक के रूप में हुआ।

1895 - हिन्दी के जाने माने प्रकाशक मुंशी नवलकिशोर का निधन हुआ।

1915 - गोपाल कृष्ण गोखले का निधन।

1942 - द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान उत्तरी ऑस्ट्रेलियाई शहर डार्विन पर जापानी लड़ाकू विमानों के हमले में 243 लोग मारे गए।

1959 - साइप्रस की स्वतंत्रता के बारे में यूनान, तुर्की और ब्रिटेन के बीच एक समझौता हुआ।

1963 - सोवियत संघ क्यूबा से अपने काफ़ी सैनिक हटाने के बारे में सहमत हुआ।

1978 - प्रसिद्ध गायक पंकज मलिक का निधन हुआ।

1986 - देश में पहली बार कम्प्यूटरी कृत रेलवे आरक्षण टिकट की शुरुआत हुयी।

1989 - लेबनान में गृहयुद्ध समाप्त करने के उद्देश्य से मुस्लिम और ईसाई नेता अरब लीग से बातचीत करने कुवैत गए।

1991 - प्रदर्शनकारियों ने रोमानिया के राष्ट्रपति इयान इलूफू के इस्तीफ़े की मांग की।

1993 - हैतो के पास समुद्र में 1500 यात्रियों सहित एक जहाज़ डूबा।

1997 - चीनी राजनीति के शिखर पुरुष देंग थ्याओं फिंग का निधन।

1999 - डेनमार्क के वैज्ञानिक डॉक्टर लेन वेस्टरगार्ड ने वाशिंगटन में प्रकाश की गति धीमी करने में सफलता पाई।

2001 - ब्राजील की जेलों में दंगे, 8 मरे, 7000 लोगों को क़ैदियों ने बंधक बनाया, तालिबान लादेन के प्रत्यर्पण को तैयार।

2000 - तुवालू संयुक्त राष्ट्र का 189वां सदस्य बना।

2003 - इंडोनेशिया की संसद ने जून 2004 में होने वाले आम चुनाव में हर पार्टी को 30 फीसदी टिकट महिला उम्मीदवार को देने संबंधी व्यवस्था दी। संयुक्त अरब अमीरात ने दाऊद के भाई इक़बाल शेख़ व उसके सहयोगी एजाज पठान को भारत को सौंपा।

2004 - कीटनाशकों और औद्योगिक रसायनों पर प्रतिबंध लगाने वाली स्टॉकहोम संधि का विश्व के 50 से ज़्यादा देशों द्वारा अनुमोदन।

2006 - पाकिस्तान ने हत्फ़ द्वितीय (अब्दाली) मिसाइल का परीक्षण किया।

2007 - भारत-बांग्लादेश में आतंकवाद का मुकाबला करने पर सहमति बनी। गाड़ी नंबर 9001 अप अटारी स्पेशल समझौता एक्सप्रेस में विस्फोट के बाद लगी आग में 68 यात्री मारे गए।

2008- संस्कृत कवि स्वामी श्रीरामभद्राचार्य को उनके महांकाव्य श्री भार्वराधवीयम के लिए वाचस्पति सम्मान प्रदान किया गया। पाकिस्तान में हुए आम चुनाव में राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ़ को करारी शिकस्त मिली। फ़िदेल कास्त्रो ने क्यूबा के राष्ट्रपति का पद तथा सैन्य प्रमुख का पद छोड़ा।

2009- केन्द्र सरकार ने उस विधेयक को समाप्त करने का निर्णय किया जिसमें 47 उत्कृष्ट शैक्षिक संस्थानों को आरक्षण के दायरे से बाहर रखने की व्यवस्था की गई थी।

2012 - मैक्सिको के न्यूवो लियोन के जेल दंगे में 44 लोग मारे गये।

 

19 फ़रवरी को जन्मे व्यक्ति

1473 - निकोलस कॉपरनिकस - प्रसिद्ध यूरोपिय खगोलशास्त्री व गणितज्ञ थे।

1630 - छत्रपति शिवाजी महाराज महानतम मराठा शासक और गुरिल्ला युद्ध के जन्म दाता।

1717 - डेविड गैरिक - अंग्रेज़ अभिनेता तथा मंच संचालक थे।

1930 – के विश्वनाथ - दक्षिण भारतीय फ़िल्म निर्देशक

1925 - राम वी. सुतार - भारत के सुप्रसिद्ध शिल्पकार हैं।

1964 सोनू वालिया - फ़िल्म अभिनेत्री

1898 - गोकुलभाई भट्ट - राजस्थान के प्रसिद्ध क्रांतिकारी तथा समाज सेवक।

 

19 फ़रवरी को हुए निधन

2017 - अल्तमस कबीर - भारत के भूतपूर्व 39वें मुख्य न्यायाधीश थे।

 1992 - नारायण श्रीधर बेन्द्रे - प्रसिद्ध भारतीय चित्रकार थे।

1915 - गोपाल कृष्ण गोखले, स्वतंत्रता सेनानी, समाजसेवी, विचारक एवं सुधारक

1956 - नरेन्द्र देव - भारत के प्रसिद्ध विद्वान, समाजवादी, विचारक, शिक्षाशास्त्री और देशभक्त।

1978 - पंकज मलिक - बांग्ला और हिन्दी फ़िल्मों के प्रसिद्ध गायक, संगीतकार और अभिनेता।

2010- निर्मल पांडे - फ़िल्म अभिनेता

 

किसान ऊर्जा सुरक्षा एवं उत्थान महाभियान का शुभारंभ

 

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्‍यक्षता में आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडल समिति ने किसानों को वित्तीय और जल सुरक्षा प्रदान करने के उद्देश्‍य से किसान ऊर्जा सुरक्षा एवं उत्‍थान महाभियान (कुसुम) का शुभारंभ करने की मंजूरी दी.

इस योजना के लिए केंद्र सरकार 34,422 करोड़ रुपए का वित्त उपलब्ध कराएगी. इसका उद्देश्य 2022 तक 25.75 गीगावाट की सौर ऊर्जा क्षमताओं का दोहन कर किसानों को वित्तीय और जल सुरक्षा उपलब्ध कराना है.

 

योजना के घटक:

प्रस्‍तावित योजना के तीन घटक हैं.

घटक ए: नवीकरणीय ऊर्जा संयंत्रों से 10,000 मेगावाट के भूमि के ऊपर बनाए गए विकेन्‍द्रीकृत ग्रिडों को जोड़ना.

घटक बी: 17.50 लाख सौर ऊर्जा चालित कृषि पंपों को लगाना.

घटक सी: 10 लाख ग्रिड से जुड़े सौर ऊर्जा चालित कृषि पंपों का सौरकरण.

तीनों घटको को सम्मिलित करने से संबंधित इस योजना का लक्ष्‍य वर्ष 2022 तक 25,750 मेगावाट सौर क्षमता जोड़ना है.

घटक ए और घटक सी को पायलट आधार पर लागू किया जाएगा. घटक ए के तहत 1000 मेगावाट क्षमता का निर्माण किया जाएगा तथा घटक सी के अंतर्गत एक लाख कृषि पंपों को ग्रिड से जोड़ा जाएगा. पायलट योजना की सफलता के बाद इसे बड़े पैमाने पर कार्यान्वित किया जाएगा. घटक बी को संपूर्ण रूप से लागू किया जाएगा.

 

घटक ए:

घटक ए के तहत, किसान/सहकारी समितियां/पंचायत /कृषि उत्‍पादक संघ (एफपीओ) अपनी बंजर या कृषि योग्‍य भूमि पर 500 किलोवाट से लेकर 2 मेगावाट क्षमता वाले नवीकरणीय ऊर्जा संयंत्र स्‍थापित कर सकेंगे. बिजली वितरण कंपनियां उत्‍पादित ऊर्जा की खरीद करेंगी. दर का निर्धारण एसईआरसी करेंगी. इस योजना से ग्रामीण भू-स्‍वामियों को स्‍थायी व निरंतर आय का स्रोत प्राप्‍त होगा. प्रदर्शन के आधार पर बिजली वितरण कंपनियों को पांच वर्षों की अवधि के लिए 0.40 रुपये की दर से प्रोत्‍सा‍हन दिया जाएगा.

 

घटक बी:

घटक बी के तहत, किसानों को 7.5 एचपी क्षमता तक के सौर पंप स्‍थापित करने के लिए सहायता प्रदान की जाएगी. इस योजना में पंप क्षमता को सौर पीवी क्षमता (केवी में) के समान मानने की अनुमति दी गई है.

 

घटक सी:

योजना के घटक सी के अंतर्गत किसानों को 7.5 एचपी की क्षमता वाले पंपों के सौरकरण के लिए सहायता प्रदान की जाएगी. इस योजना में पंप क्षमता को दोगुने सौर पीवी क्षमता के समान माना गया है. किसान उत्‍पादित ऊर्जा का उपयोग सिंचाई जरूरतों के लिए कर पाएंगे तथा अतिरिक्‍त ऊर्जा बिजली वितरण कं‍पनियों को बेच पाएंगे. इससे किसानों को अतिरिक्‍त आय प्राप्‍त होगी और राज्‍य अपने पीआरओ लक्ष्‍य को प्राप्‍त कर पाएंगे.

 

घटक-बी और घटक-सी की फंडिंग:

घटक बी और घटक सी के लिए मानदंड लागत का 30 प्रतिशत या निविदा लागत, इनमें जो भी कम हो, के लिए केन्‍द्रीय वित्तीय सहायता (सीएफए) प्रदान की जाएगी. राज्‍य सरकार 30 प्रतिशत की सब्सिडी देगी और शेष 40 प्रतिशत खर्च का वहन किसानों को करना होगा.

लागत के 30 प्रतिशत खर्च के लिए बैंक सहायता भी प्राप्‍त की जा सकती है. शेष 10 प्रतिशत लागत किसान के द्वारा उपलब्‍ध कराई जाएगी. पूर्वोत्तर राज्‍यों, सिक्किम, जम्‍मकश्‍मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, लक्षदीप और अंडबार-निकोबार दीप समूहों में 50 प्रतिशत केन्‍द्रीय वित्तीय सहायता (सीएफए) उपलब्‍ध कराई जाएगी.

 

प्रभाव:

इस योजना से कार्बन डाईआक्‍साइड में कमी आएगी और वायुमंडल पर सकारात्‍मक प्रभाव पड़ेगा. योजना के तीनों घटकों को सम्मिलित करने में पूरे वर्ष में कार्बन डाईआक्‍साइड उत्‍सर्जन में 27 मिलियन टन की कमी आएगी.

घटक बी के अंतर्गत सौर कृषि पंपों से प्रतिवर्ष 1.2 बिलियन लीटर डीजल की बचत होगी. इससे कच्‍चे तेल के आयात में खर्च होने वाली विदेशी मुद्रा की भी बचत होगी. इस योजना में रोजगार के प्रत्‍यक्ष अवसरों को सृजित करने की क्षमता है. स्‍वरोजगार में वृद्धि के साथ इस योजना से कुशल व अकुशल श्रमिकों के लिए 6.31 लाख रोजगार के नए अवसरों के सृजन होने की संभावना है.

 

 

No comments yet...

Leave your comment

10028

Character Limit 400