Blog Manager

Universal Article/Blog/News module

Current Affairs 07.12.2018

In: India
Like Up: (0)
Like Down: (0)
Created: 07 Dec 2018

7 दिसंबर की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ

1825 - भाप से चलने वाला पहला जहाज ‘इंटरप्राइज  कोलकाता पहुंचा।

1856 - देश में पहली बार आधिकारिक रूप से ‘हिंदू विधवाका विवाह कराया गया।

1941 - जापानी विमानों ने हवाई स्थित पर्ल हार्बर में अमेरिकी बेड़े पर हमला किया जिसमें 2043 लोग मारे गये।

1944 - जनरल रादेस्कू ने रोमानिया में सरकार का गठन किया।

1970 - पश्चिम जर्मनी और पोलैंड के बीच संबंध सामान्य हुए।

1972 - अमेरिका ने चंद्रमा के लिये अपने अभियान के तहत अपोलो 17 का प्रक्षेपण किया।

1983 - मैड्रिड एयरपोर्ट पर दो जेट विमानों के आपस में टकराने से 93 की मौत।

1995 - दक्षिण एशिया वरीयता व्यापार समझौता (साप्टा) प्रभावी। भारत ने संचार उपग्रह इनसेट-2सी का प्रक्षेपण किया।

1988 - अर्मेनिया में 6.9 तीव्रता वाले भूकंप से 25 हजार लोगों की मौत, लाखों बेघर।

2001 - कंधार में तालिबान ने हथियार डाले, विक्रमसिंघे श्रीलंका के नये प्रधानमंत्री नियुक्त।

2002 - तुर्की की आजरा अनिन मिस वर्ल्ड 2002 बनीं। कश्मीर में अलगाववादी हिंसा में आठ मुस्लिम विद्रोहियों सहित 14 लोग मारे गए।

2003 - रमन सिंह छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री पद पर आसीन 2004 - हामिद करजई ने अफ़ग़ानिस्तान के पहले निर्वाचित राष्ट्रपति के रूप में शपथ ग्रहण की।

2007 - यूरोप की कोलम्बर प्रयोगशाल को अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन पर पहुँचाने वाली अटलांटिस की बहुप्रतीक्षित उड़ान तकनीकि कारणों से स्थगित।

2008 - हरियाणा के मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ने चन्द्रमोहन को मुख्यमंत्री पद से बर्ख़ास्त किया। भारतीय गोल्फर जीव मिल्खा सिंह ने जापान टूर का ख़िताब जीता।

2009 - डेनमार्क के कोपेनहेगन में जलवायु शिखर सम्मेलन शुरू।

7 दिसंबर को जन्मे व्यक्ति

1924 - मारियो सोरेस - पुर्तग़ाल के पूर्व राष्ट्रपति

1954 - अर्जुन राम मेघवाल - एक भारतीय राजनेता हैं।

1879 - जतीन्द्रनाथ मुखर्जी - भारतीय क्रांतिकारी

1889 - राधाकमल मुखर्जी - आधुनिक भारतीय संस्कृति और समाजशास्त्र के विख्यात विद्वान।

 

7 दिसंबर को हुए निधन

2016 - चो रामस्वामी - भारतीय अभिनेता, हास्य कलाकार, राजनीतिक व्यंग्यकार, नाटककार, फ़िल्म निर्देशक और अधिवक्ता थे।

2003 - बेगम आबिदा अहमद - भारत के पाँचवे राष्ट्रपति फ़ख़रुद्दीन अली अहमद की पत्नी।

1782 - हैदर अली - 18वीं शताब्दी के मध्य एक वीर योद्धा था, जो अपनी योग्यता और क़ाबलियत के बल पर मैसूर का शासक बन गया।

 7 दिसंबर के महत्त्वपूर्ण अवसर एवं उत्सव

सशस्त्र सेना झंडा दिवस

 

इतिहास में पहली बार नासा का ओसीरिस-रेक्स यान क्षुद्रग्रह बेन्नू पर पहुंचा

 

नासा का महत्वकांक्षी यान ओसीरिस-रेक्स (OSIRIS-Rex) 03 दिसंबर 2018 को लगभग दो वर्ष की यात्रा के बाद क्षुद्र ग्रह (asteroid) बेन्नू पर पहुंचा. ओसीरिस-रेक्स ने यहां पहुंच कर हीरे के आकार की एक चट्टान का चित्र लिया तथा उसे धरती पर भेजा.

यह अंतरिक्ष यान आने वाले दिनों में 31 दिसंबर तक को बेन्नू की कक्षा के चारों ओर चक्कर लगाएगा. गौरतलब है कि अभी तक कोई भी अंतरिक्ष यान इस तरह के एक छोटे से क्षुद्रग्रह की कक्षा तक नहीं पहुँच पाया है. वैज्ञानिकों के अनुसार, बेन्नू एक खगोलीय समय कैप्सूल के समान है.

 

 

क्षुद्र ग्रह किसे कहते हैं?

मंगल और बृहस्पति की कक्षाओं के मध्य सूर्य की परिक्रमा करने वाले छोटे-छोटे पिंडों को क्षुद्र ग्रह कहा जाता है. अनियमित आकार वाले ये क्षुद्र ग्रह सूर्य की परिक्रमा दीर्घवृत्तीय कक्षा में करते हैं. क्षुद्र ग्रह निर्माणकारी तत्त्वों के अवशेष हैं जिनमें जल, कार्बनिक तत्त्व, धातुएँ आदि प्राकृतिक संसाधन निहित होते हैं. बेन्नू भी एक क्षुद्र ग्रह है जिसे ‘1999 RQ36’ के नाम से भी जाना जाता है.

 

इस मिशन से जुड़े मुख्य बिंदु

  • किसी भी क्षुद्र ग्रह के नमूने को एकत्रित कर पृथ्वी पर भेजने और लौटने लौटने के लिये अमेरिका द्वारा किया गया पहला प्रयास है. इससे पूर्व केवल जापान ने इस क्षेत्र में प्रयास किये हैं.

 

  • वर्ष 2020 में वैज्ञानिक इस यान द्वारा जुटाए गए नमूने एकत्र करेंगे और 2023 तक यह पृथ्वी पर लौट आएगा.

 

  • वैज्ञानिक, बेन्नू जैसे कार्बन समृद्ध क्षुद्र ग्रह की सामग्री का अध्ययन करने के लिये उत्सुक हैं, जो 4.5 अरब साल पहले हमारे सौर मंडल की शुरुआती निर्माण का प्रमाण है.

 

  • हाल ही में जापानी अंतरिक्ष यान ‘रायगुके बारे में भी घोषणा की गई है जो जून के बाद क्षुद्र ग्रहों के नमूने एकत्रित करने के लिये पृथ्वी से रवाना होगा. यह जापान का दूसरा क्षुद्र ग्रह मिशन है.

 

 ओसीरिस-रेक्स के बारे में जानकारी

  • नासा द्वारा फ्लोरिडा के केप केनेवरल एयरफोर्स स्टेशन से 8 सितंबर 2016 को अंतरिक्ष यान ओसीरिस-रेक्स को एटलस-यू रॉकेट से प्रक्षेपित किया गया.

 

  • इस अंतरिक्ष यान का निर्माण लॉकहीड मार्टीन स्पेस सिस्टम्स द्वारा किया गया है.

 

  • ओसीरिस-रेक्स का पूरा नाम-ओरिजिंस, स्पेक्ट्रल इंटरप्रीटेशन, रिसोर्स आईडेंटीफिकेशन, सिक्योरिटी-रेगोलिथ एक्सफ्लोरर एस्टेरॉयड सैंपल रिटर्न मिशन है.

 

  • नासा के इस अंतरिक्ष मिशन के द्वारा पृथ्वी के समीप के क्षुद्रग्रह बेन्नू से नमूने का संग्रहण एवं उनका अध्ययन किया जाएगा.

No comments yet...

Leave your comment

45231

Character Limit 400