Blog Manager

Universal Article/Blog/News module

Current Affairs 06.02.2019

In: World
Like Up: (0)
Like Down: (0)
Created: 06 Feb 2019

6 फ़रवरी की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ

1715 - स्पेन और पुर्तग़ाल के बीच युद्ध समाप्त हुआ।

1716 - ब्रिटेन और हालैंड के बीच गठबंधन का नवीनीकरण।

1778 - ब्रिटेन ने फ़्रांस के ख़िलाफ़ जंग का ऐलान किया। फ़्रांस ने अमेरिका को मान्यता प्रदान की।

1788 - मैसाचुसेट्स संयुक्त राज्य अमेरिका के संविधान को मानने वाला छठा राज्य बना।

1819 - सर थॉमस स्टैमफ़र्ड रैफ़ेल्स ने सिंगापुर की खोज की।

1833 - ओट्टो आधुनिक समय में यूनान के पहले सम्राट बने।

1869 - यूनान क्रीट छोड़ने को राजी हुआ।

1891 - उड़ान के क्षेत्र में अग्रणी डच-एंटन हरमान फ़ोकर का जन्म।

1899 - स्पेन ने क्यूबा प्यूटो रिको गुआम और फिलीपींस अमरीका को सौंप दिए।

1911 - अमेरिका के एरिजोना में पहला वृद्धाश्रम खोला गया।

1918 - तीस वर्ष से अधिक की आयु की महिलाओं को ब्रिटेन में मतदान करने का अधिकार मिला।

1922 - कार्डिनल एशिले रैट्टी पोप चुने गए।

1941 - ब्रिटिश सेना ने लीबिया के बेनगाजी शहर पर कब्जा किया।

1942 - द्वितीय विश्वयुद्ध:यूनाइटेड किंगडम ने थाईलैंड के ख़िलाफ़ युद्ध की घोषणा की।

1951 - अमेरिका ने नेवादा में परमाणु परीक्षण किया।

1952 - ब्रिटेन नरेश जार्ज छठवें के निधन के बाद एलिजाबेथ द्वितीय गद्दी पर बैठीं।

1959 - सुश्री अन्ना चांडी केरल उच्च न्यायालय की प्रथम महिला न्यायाधीश बनीं।

1968 - फ्रांस के ग्रेनोबल शहर में दसवें शीतकालीन आेलंपिक खेल शुरु।

1985 - ब्रिटिश उपन्यासकार जेम्स हेडली चेइज का स्विट्जलैंड में निधन।

1987 - जस्टिस मैरी गॉडरन आस्ट्रेलियाई हाई कोर्ट की जज बनने वाली पहली महिला बनीं।

1989 - पूर्वी यूरोप में साम्यवाद को समाप्त करने की दिशा में पोलैंड में गोलमेज वार्ता की शुरुआत।

1991 - विद्रोहियों की हिंसा में 47 व्यक्तियों की मौत के बाद कोलंबिया के राष्ट्रपति सीजर गैविरिया ने हिंसक गतिविधियाँ समाप्त करने की अपील की।

1993 - टेनिस के जाने माने खिलाड़ी आर्थर ऐश का निधन।

1994 - पाकिस्तान में सार्वजनिक फ़ांसी पर प्रतिबंध लागू।

1997 - इक्वाडोर की कांग्रेस ने राष्ट्रपति अब्दाला बुकारम को अपदस्थ कर दिया।

1999 - देश का पहला पेस मेकर बैंक कोलकाता में स्थापित।

2000 - विदेश मंत्री टारजा हैलोनेन फ़िनलैंड की प्रथम महिला राष्ट्रपति चुनी गईं।

2001 - वरिष्ठ कांग्रसी नेता वी.एन. गाडगिल का निधन।

2002 - पर्ल अपहरण काण्ड में जैश-ए-मोहम्मद के उमर शेख़ की तलाश। भारत ने सीमा में घुस आया पाकिस्तान का जासूसी विमान मार गिराया।

2003 - अमेरिकी सीनेट की विदेश संबंध समिति ने रूस के साथ एटमी हथियार संधि का अनुमोदन किया।

2004 - तेरहवीं लोकसभा भंग।

2005 - आस्ट्रेलिया ने पाकिस्तान को हराकर त्रिकोणीय एक दिवसीय शृंखला जीती। जम्मू-कश्मीर में उधमपुर के नजदीक बस हादसे में 32 मरे।

2007 - अमेरिका के इमोरी विश्वविद्यालय ने दलाई लामा को प्रोफ़ेसर नियुक्त किया।

2008 - प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने आइसलैण्ड के राष्ट्रपति रैग्ना ग्रिमसन से बात-चीत की। देश में औद्योगिक विकास में उल्लेखनीय योगदान कि लिए उद्योगपति एम.पी. जिंदल को उद्योग रत्न से सम्मनित किया गया। भारत सरकार ने असम के माजुली द्वीप को वर्ष 2008 के विश्व विरासत सूची में शामिल करने के लिए सांस्कृतिक भू-स्थल के वर्ग में मनोनीत किया।

2009 - भारत ने नेपाल के साथ लगी अपनी सीमा पर तीन बड़े बाँधों के निर्माण के लिए 9.45 करोड़ रुपये की आर्थिक सहायता दी। किरण कार्णिक सत्यम के नए अध्यक्ष बने।

2017- वीके शशिकला तमिलनाडु की तीसरी महिला मुख्यमंत्री नियुक्त।

 

6 फ़रवरी को जन्मे व्यक्ति

1983 - एस. श्रीसंत - भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी

1915 - प्रदीप - प्रसिद्ध कवि और गीतकार

1890 - ख़ान अब्दुल ग़फ़्फ़ार ख़ान - भारत रत्न सम्मानित महान् स्वतंत्रता सेनानी

 

6 फ़रवरी को हुए निधन

2006 - गुरबख्श सिंह ढिल्लों - आज़ाद हिन्द फ़ौज के अधिकारी थे।

1931 - मोतीलाल नेहरू- स्वतंत्रता सेनानी और राजनीतिज्ञ।

1976 - ऋत्विक घटक - भारतीय लेखक और फ़िल्म निर्देशक

1948- नायक यदुनाथ सिंह- परमवीर चक्र सम्मानित भारतीय सैनिक

1965- प्रताप सिंह कैरों- स्वतंत्रता सेनानी एवं पंजाब के भूतपूर्व मुख्यमंत्री

1983- आत्माराम- प्रसिद्ध वैज्ञानिक

1900- विलियम विलसन हन्टर -सांख्यिकीविज्ञ अंग्रेज़ अधिकारी थे।

1793 - कार्लो गोल्दोनी - प्रसिद्ध इतालवी नाटककार थे।

 

6 फ़रवरी के महत्त्वपूर्ण अवसर एवं उत्सव

वन अग्नि सुरक्षा दिवस (सप्ताह)।

 

नासा की हबल दूरबीन ने बौनी आकाशगंगा की खोज की

 

नासा के अंतरिक्ष टेलिस्कोप हबल ने हाल ही में ब्रह्मांड में एक और आकाशगंगा का पता लगाया है लेकिन नासा का कहना है कि यह आकाशगंगा हमारी मौजूदा आकाशगंगा की तुलना में बौनी है. नासा के स्पेस टेलिस्कोप हबल से इस आकाशगंगा का अध्ययन किया गया जिसके बाद ही इसे बौना (Dwarf) कहा गया है.

नई आकाशगंगा को बेदिन-1 (Bedin-1) नाम दिया गया है. रॉयल एस्ट्रॉनोमिकल सोसायटी लेटर्स जर्नल के मासिक नोटिस में प्रकाशित अध्ययन के मुताबिक हबल के एडवांस कैमरे का उपयोग कर अध्ययन करने पर पता चला कि सितारों का एक छोटा संग्रह दिखाई दे रहा था. इन तारों की चमक और तापमान का ध्यानपूर्वक विश्लेषण करने के बाद खगोलविदों ने यह निष्कर्ष निकाला कि ये तारे आकाशगंगा के तारामंडल का हिस्सा नहीं हैं बल्कि उससे करोड़ों प्रकाश वर्ष दूर स्थित हैं.

 

खोज के मुख्य बिंदु

  • नासा के स्पेस टेलीस्कोप ‘हबलने तीन करोड़ प्रकाश वर्ष दूर, हमारे ब्रह्मांड में पीछे की ओर मौजूद एक बौनी (Dwarf) आकाशगंगा का पता लगाया है.
  • शोधकर्त्ताओं ने तारों के गोल गुच्छे NGC 6752 के भीतर सफेद बौने तारों का अध्ययन करने के लिये स्पेस टेलीस्कोप ‘हबलका इस्तेमाल किया था.
  • इस अध्ययन का उद्देश्य गोल तारामंडल की आयु का पता लगाने के लिये इन तारों का इस्तेमाल करना था, लेकिन इस प्रक्रिया में शोधकर्त्ताओं को बौनी आकाशगंगा मिली.
  • गौरतलब है कि बौनी आकाशगंगा में दूसरी आकाशगंगाओं की तुलना में काफी कम तारे होते हैं.

 

बौनी (Dwarf) आकाशगंगा

बौनी आकाशगंगाओं को उनके छोटे आकार, धूमिल, धूल की कमी आदि द्वारा परिभाषित किया जाता है. इनमें पुराने तारे मौजूद होते हैं. इस प्रकार की 36 आकाशगंगाएँ पहले से ही ज्ञात हैं जो आकाशगंगा के स्थानीय समूह में मौजूद हैं, जिनमें से 22 अपनी मिल्की वे की उपग्रह आकाशगंगाएँ हैं. तारों की विशेषताओं का अध्ययन करने के बाद शोधकर्ताओं ने इस आकाशगंगा की उम्र पता की है उन्होंने बताया कि यह बौनी आकाशगंगा लगभग 1300 करोड़ वर्ष पुरानी है. अर्थात यह लगभग उतनी ही पुरानी है जितना ब्रह्मांड पुराना है. वैज्ञानिकों का मानना है कि शुरुआत में ही यह अन्य आकाशगंगाओं से दूर हो गई होंगी और इसका विकास नहीं हुआ होगा. वैज्ञानिकों का मानना है कि यहां पर जीवन की संभावना बेहद कम है.

 

हबल स्पेस टेलिस्कोप

  • हबल अंतरिक्ष दूरदर्शी (Hubble Space Telescope) वास्तव में एक खगोलीय दूरदर्शी है जो अंतरिक्ष में कृत्रिम उपग्रह के रूप में स्थित है.
  • इसे 25 अप्रैल सन् 1990 में अमेरिकी अंतरिक्ष यान डिस्कवरी की मदद से इसकी कक्षा में स्थापित किया गया था.

 

  • हबल स्पेस टेलिस्कोप को अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने यूरोपियन अंतरिक्ष एजेंसी के सहयोग से तैयार किया था.
  • अमेरिकी खगोलविज्ञानी एडविन पोंवेल हबल के नाम पर इसे 'हबलनाम दिया गया है. यह नासा की प्रमुख वेधशालाओं में से एक है.
  • यह एकमात्र स्पेस टेलिस्कोप है, जिसे अंतरिक्ष में ही सर्विसिंग के हिसाब से डिजाइन किया गया है.

No comments yet...

Leave your comment

18805

Character Limit 400