Blog Manager

Universal Article/Blog/News module

Current Affair 31.10.2018

In: India
Like Up: (0)
Like Down: (0)
Created: 31 Oct 2018

31 अक्टूबर की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ

1759 - फिलीस्तीन के साफेद में भूकंप से 100 लोग मारे गये।

1864 - नेवादा अमेरिका का 36वां प्रांत बना। 1905 - अमेरिका के सेंट पीटर्सबर्ग में क्रांतिकारी प्रदर्शन।

1908 - चौथे ओलंपिक खेलों का लंदन में समापन।

1914 - ब्रिटेन तथा फ्रांस ने तुर्की के खिलाफ युद्ध की घोषणा की।

 1920 - मध्य यूरोपीय देश रोमानिया ने पूर्वी यूरोप के बेसाराबिया पर कब्जा किया।

1953 - बेल्जियम में टेलीविजन का प्रसारण शुरू हुआ।

1956 - स्वेज नहर को फिर से खोलने के लिए ब्रिटेन तथा फ्रांस ने मिस्र पर बमबारी शुरू की।

 1959 - सोवियत संघ तथा मिस्र ने नील नदी पर अस्वान बांध बनाने के लिए समझौते पर हस्ताक्षर किये।

1960 - बंगाल की खाड़ी में चक्रवाती तूफान से करीब दस हजार लोगों की मौत।

1966 - भारत के मशहूर तैराक मिहिर सेन ने पनामा नहर को तैरकर पार किया।

1978 - ईरान में तेल कर्मचारियों की हड़ताल शुरू। यमन ने अपना संविधान अंगीकार किया।

1982 - पोप जाॅन पॉल द्वितीय स्पेन जाने वाले पहले बिशप बने।

1984- भारत की प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की उनके अंगरक्षकों द्वारा गोली मारकर हत्या कर दी गई। इसके पश्चात् राजीव गांधी भारत के 9वें प्रधानमंत्री बनें।

1989 - तुर्गत ओजल तुर्की के राष्ट्रपति चुने गये।

1996 - रासायनिक अस्त्र प्रतिबंध संधि को लागू करने के लिए आवश्यक 65 देशों की मंजूरी मिली।

2003 - हैदराबाद में आयोजित अफ़्रोएशियन हॉकी चैम्पियनशिप में भारत ने पाकिस्तान को 3-1 से हराकर स्वर्ण प्राप्त किया। मलेशिया के प्रधानमंत्री मोहतिर मोहम्मद ने शासन की बागडोर उपप्रधानमंत्री अब्दुल्ला अहमद को सौंपी। मलेशियाई प्रधानमंत्री महाथिर मुहम्मद के 22 वर्ष लंबे शासन का अंत हुआ।

2004 - फालुजा में अमेरिका ने हवाई हमला किया।

2005 - फ़िलिस्तीन-इस्रायल हिंसा न करने पर सहमत। रूस को वोल्कर रिपोर्ट के पीछे जोड़-तोड़ का सन्देह। चीन और नेपाल सीमा के संयुक्त निरीक्षण पर सहमत।

 2006 - श्रीलंका सरकार ने तमिल विद्रोहियों पर जाफना प्राय:द्वीप में जवानों पर गोलीबारी करने का आरोप लगाया।

2008- देश में 6 से 14 वर्ष की आयु के बच्चे को गुप्त और अनिवार्य शिक्षा मुहैया कराने सम्बन्धी विधेयक को केन्दीय मंत्रीमण्डल ने मंज़ूरी दी।

2015 - रूसी एयरलाइन कोगलीमाविया का विमान 9268 उत्तरी सिनाई में दुर्घटनाग्रस्त होने से विमान में सवार सभी 224 लोगों की मौत।

 31 अक्टूबर को जन्मे व्यक्ति

1875 - सरदार वल्लभ भाई पटेल - भारत के स्वतन्त्रता संग्राम सेनानी एवं स्वतन्त्र भारत के प्रथम गृह मंत्री

1889 - नरेन्द्र देव - भारत के प्रसिद्ध विद्वान, समाजवादी, विचारक, शिक्षाशास्त्री और देशभक्त।

1922 - नोरोदम शिनौक - कंबोडिया के राजा थे।

1943 - जी. माधवन नायर, भारतीय वैज्ञानिक और 'इसरो' के भूतपूर्व अध्यक्ष

1962 - सर्बानन्द सोनोवाल - असम के 14वें मुख्यमंत्री और भारत की सोलहवीं लोकसभा के सांसद हैं।

 

31 अक्टूबर को हुए निधन

1975- सचिन देव बर्मन, बंगला और हिन्दी सिनेमा के प्रसिद्ध संगीतकार तथा गायक। प्रमुख फ़िल्में- आराधना

1984 - इन्दिरा गांधी - भारत की चौथी प्रधानमंत्री

2005 - अमृता प्रीतम, प्रसिद्ध कवयित्री, उपन्यासकार और निबंधकार

अक्टूबर 2018  के सभी महत्वपूर्ण करेंट अफेयर्स घटनाक्रमों का सारांश

1. प्रधानमंत्री मोदी द्वारा सरदार पटेल के 'स्टैच्यू ऑफ यूनिटी' का अनावरण

विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा के रूप में सरदार वल्लभभाई पटेल के स्टैच्यू ऑफ यूनिटी का 31 अक्टूबर 2018 को गुजरात में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा अनावरण किया जायेगा. यह समारोह सरदार पटेल की 31 अक्टूबर को सरदार पटेल की जयंती के मौके पर आयोजित किया जा रहा है.

सरदार पटेल की 182 मीटर ऊंची प्रतिमा को विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा बताया गया है. मूर्ति का अनावरण करने के लिए समारोह में भारतीय वायु सेना द्वारा फ्लाई पास्ट किया जायेगा. इतना ही नहीं सेना, नौसेना और आईएएफ के बैंड द्वारा देशभक्ति संगीत गाया जायेगा. चीन स्थित स्प्रिंग टेंपल की 153 मीटर ऊंची बुद्ध प्रतिमा के नाम अब तक सबसे ऊंची मूर्ति होने का रिकॉर्ड था लेकिन सरदार वल्लभ भाई पटेल की प्रतिमा ने अब चीन में स्थापित इस मूर्ति को दूसरे स्थान पर छोड़ दिया है.


2. महिंदा राजपक्षे को श्रीलंका का नया प्रधानमंत्री नियुक्त किया गया


श्रीलंका के पूर्व राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे ने एक नाटकीय घटनाक्रम में प्रधानमंत्री के पद पर वापसी की है. देश के राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरीसेना के कार्यालय ने बयान जारी कर कहा है कि उन्हें प्रधानमंत्री के पद पर नियुक्त किया जा रहा है.

राष्ट्रपति ने रानिल विक्रमसिंघे को अपदस्थ करके उनके स्थान पर महिंदा राजपक्षे को यह पदभार सौंपा है. इस फैसले से श्रीलंका में राजनितिक संकट गहराता हुआ लग रहा है. बर्खास्तगी के बाद विक्रमसिंघे ने संसद का आपात सत्र बुलाने की मांग की थी ताकि वह अपना बहुमत साबित कर सकें लेकिन राष्ट्रपति ने 16 नवंबर तक संसद को निलंबित कर दिया था.


3. एमआईटी वैज्ञानिकों ने बेहद सूक्ष्म रोबोट विकसित किया


मैसेचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी (एमआईटी) के वैज्ञानिकों ने हाल ही में अतिसूक्ष्म रोबोट विकसित किया है जिसका उपयोग आयल या गैस पाइपलाइन की निगरानी अथवा मानव शरीर में रोग के निदान में किया जा सकता है. 

गौरतलब है कि इस रोबोट का आकार लगभग 10 माइक्रोमीटर है. इसके अतिरिक्त वैज्ञानिकों ने उस तरीके की भी खोज कर ली है जिसकी सहायता से ऐसे रोबोटों का बड़े पैमाने पर उत्पादन किया जा सकता है. इन बेहद छोटे रोबोटों का नाम ‘सेनसेल्स’ रखा गया है (Synthetic Cells) रखा गया है. वैज्ञानिकों ने इस अतिसूक्ष्म रोबोट की बाहरी संरचना के निर्माण में कार्बन तथा ग्राफीन के द्वि-विमीय प्रारूप का उपयोग किया है. मैसेचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी (MIT) के एक प्रोफेसर के अनुसार, यह रोबोट किसी जीवित जैविक कोशिका की तरह ही व्यवहार करता है.


4. भारत एवं जापान ने छह समझौतों पर हस्ताक्षर किये


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और जापान के प्रधानमंत्री शिंजो अबे की 29 अक्टूबर 2018 को हुई शिखर वार्ता के बाद भारत और जापान ने एक हाई स्पीड रेल परियोजना और नौसेना सहयोग सहित 6 समझौतों पर हस्ताक्षर किए. इसके अतिरिक्त दोनों देशों के विदेश मंत्रियों तथा रक्षा मंत्रियों के बीच टू प्लस टू वार्ता करने पर सहमति जताई गई.

शिखर वार्ता में दोनों ने भारत-प्रशांत क्षेत्र के हालात सहित विभिन्न द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों पर चर्चा की. प्रधानमंत्री मोदी ने वार्ता के बाद कहा, "हम दोनों ने इस बात पर सहमति जताई कि डिजिटल साझेदारी से लेकर साइबर क्षेत्र, स्वास्थ्य, रक्षा, समुद्र से अंतरिक्ष तक, हर क्षेत्र में हम अपनी भागीदारी को मजबूत करेंगे."


5. सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या विवाद पर सुनवाई जनवरी 2019 तक टाल दी


सुप्रीम कोर्ट ने 29 अक्टूबर 2018 को अयोध्या विवाद पर सुनवाई जनवरी 2019 तक टाल दी हैं. सुप्रीम कोर्ट में इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर सुनवाई होनी थी. चीफ जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस संजय किशन कौल और जस्टिस केएम जोसेफ की बेंच 2010 में आए इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ दायर याचिकाओं पर विचार कर रही थी.

पहले इस मामले की सुनवाई पूर्व चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस एस अब्दुल नजीर की बेंच कर रही थी. 27 सितंबर 2018 को तत्कालीन चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया दीपक मिश्रा, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस एस अब्दुल नजीर की बेंच ने विवादित भूमि के मामले की सुनवाई नई बेंच में करने का आदेश दिया था.


6. दिल्ली के पूर्व मुख्यमंत्री मदन लाल खुराना का निधन

दिल्ली के पूर्व मुख्यमंत्री मदनलाल खुराना का लंबी बीमारी के बाद 27 अक्टूबर 2018 को दिल्ली में निधन हो गया. वे 82 वर्ष के थे. उनके परिवार में पत्नी, एक बेटा और दो बेटियां हैं. उनके एक बेटे का अगस्त 2018 में निधन हो गया था. खुराना को छाती में संक्रमण था और पिछले कुछ दिनों से बुखार भी था. मदन लाल खुराना को वर्ष 2011 में ब्रेन हेमरेज हुआ था. इसके बाद से ही उनकी सेहत खराब चल रही थी.

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह सहित भाजपा व अन्य दलों के नेताओं ने खुराना के निधन पर गहरा शोक जताया है. भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी, केंद्रीय मंत्री सुषमा स्वराज, डॉ हर्षवर्धन और प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी समेत कई नेताओं ने उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि दी.


7. भारत और बांग्लादेश के बीच जलमार्ग संपर्क बढ़ाने हेतु समझौतों पर हस्ताक्षर

भारत और बांग्लादेश ने 25 अक्टूबर 2018 को व्यापार और जहाजों के आवागमन के लिए दोनों देशों के बीच अंतर्देशीय तथा तटीय जलमार्ग संपर्क बढ़ाने के संबंध में महत्वपूर्ण समझौते किए हैं. भारत के नौवहन सचिव गोपाल कृष्ण और उनके बांग्लादेश के समकक्ष मोहम्मद अब्दुस्समद ने संयुक्त बयान भी जारी किया. 

दोनों देशों के मध्य हुए समझौते के तहत बांग्लादेश में चट्टोग्राम और मोन्गला गोदियों को भारत से आने वाले और भारत को भेजे जाने वाले सामान के आवागमन के लिए इस्तेमाल किया जाएगा. इसके अलावा यात्रियों के आने-जाने और नौवहन सेवाओं के लिए भी एक मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) पर भी हस्ताक्षर किए गए. इस प्रक्रिया के लिए तटीय नौवहन मार्गों और अंतर्देशीय मार्गों को अंतिम रूप दे दिया गया है. नदी रास्ते नौवहन सेवाएं कोलकाता-ढाका-गुवाहाटी-जोरहट के बीच शुरू की जाएगी.


8. ट्रेन-18, भारत ने तैयार की देश की पहली इंजन रहित रेल


भारतीय रेलवे देश की पहली इंजन रहित हाई स्पीड ट्रेन तैयार की गई. रेल मंत्रालय द्वारा हाल ही में इस ट्रेन की जानकारी जारी की गई. इस ट्रेन का नाम ट्रेन-18 रखा गया है. इसे 29 अक्टूबर को लॉन्च किया गया. यह ट्रेन पूरी तरह से तैयार है और इसका पहला ट्रायल रन 29 अक्टूबर को तय किया गया है. 

इस विशेष ट्रेन की रफ्तार 160 किमी/घंटे होगी. इसे ट्रेन-18 इसलिए नाम दिया गया है क्योंकि इसे 2018  में लॉन्च किया जा रहा है. इसी तरह की खास तकनीक का इस्तेमाल करते हुए "ट्रेन 20" नामक एक और ट्रेन का निर्माण किया गया है. यह ट्रेन 2020 से पटरी पर दौड़ेगी. इस ट्रेन में लोकोमोटिव इंजन नहीं होगा. इसकी जगह ट्रेन के हर कोच में ट्रेक्शन मोटर्स लगी होंगी, जिनकी मदद से सभी कोच पटरियों पर दौड़ेंगे.


9. वेस्टइंडीज के ड्वेन ब्रावो ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से सन्यास लेने की घोषणा की

वेस्टइंडीज़ के ऑलराउंडर ड्वेन ब्रावो ने 24 अक्टूबर 2018 को अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने की घोषणा की है. हालांकि, वह विश्व की विभिन्न टी20 लीग्स में खेलना जारी रखेंगे. इंग्लैंड के खिलाफ वर्ष 2004 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में कदम रखने वाले ब्रावो ने अचानक ये फैसला लिया है. संन्यास लेने के बाद ब्रावो ने कहा की जुलाई 2004 में डेब्यू के समय जो जोश मेरे अंदर था, उसे मैंने पूरे करियर के दौरान बरकरार रखा.

ब्रावो ने आखिरी अंतरराष्ट्रीय मैच दो साल पहले सितंबर 2016 में पाकिस्तान के खिलाफ टी-20 इंटरनेशनल मैच खेला था. ड्वेन ब्रावो ने अपने ऑलराउंड खेल से दुनिया भर में अच्छी पहचान बनाई. ब्रावो ने अपना आखिरी टेस्ट मैच वर्ष 2010 में खेला था और पिछले कुछ वर्षों से वह टी20 विशेषज्ञ कहलाने लगे हैं.


10. विराट कोहली बने सबसे तेज़ 10 हज़ार रन बनाने वाले बल्लेबाज़

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली वनडे क्रिकेट में सबसे तेज़ 10,000 रन बनाने वाले बल्लेबाज़ बन गए हैं. विराट कोहली ने विशाखापट्टनम में 24 अक्टूबर 2018 को खेले गए मैच को मिलाकर, कुल 213 वनडे मुक़ाबलों की 205 पारियों में ये कारनामा कर दिखाया है.

कोहली ने विशाखापट्टनम में वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरे वनडे सीरीज में 81 रन बनाते ही सबसे तेज 10 हजार रन बनाने का रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया. इससे पहले सबसे कम वनडे मैचों में ये रिकॉर्ड भारतीय खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर के नाम था. सचिन ने 259वीं पारी में ये उपलब्धि हासिल की थी.


11. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 'मैं नहीं हम' ऐप लांच किया


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 24 अक्टूबर 2018 को 'मैं नहीं हम' पोर्टल और ऐप लांच किया. ये पोर्टल 'सेल्‍फ फॉर सोसायटी' की थीम पर काम करेगा.  इससे आईटी पेशेवरों और संगठनों को सामाजिक सरोकार की दिशा में काम करने के लिए एक मंच मिलेगा. इसके माध्यम से समाज के कमजोर तबके को प्रौद्योगिकी का उपयोग करने में मदद मिलने की उम्मीद की जा रही है.

कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री मोदी कई उद्योगपतियों से मिले और आईटी पेशेवरों तथा आईटी और इलेक्‍ट्रॉनिक उपकरण बनाने वाली कंपनियों के कर्मचारियों को संबोधित किया.  इस अवसर पर देश भर के 100 से ज्‍यादा स्‍थानों से आईटी और इलेक्‍ट्रॉनिक विनिर्माता वीडियो कांफ्रेंस के जरिए आयोजन से जुड़े.


12. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 'सियोल शांति पुरस्कार-2018' हेतु चयनित


भारत के वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को वर्ष 2018 के 'सियोल शांति पुरस्कार' के लिए चयनित किया गया है. उन्हें यह पुरस्कार भारतीय और वैश्विक अर्थव्यवस्था में योगदान के लिए दिया जायेगा. उन्होंने लोक कल्याण के क्षेत्र में सुधार के लिए कई देशों के साथ आर्थिक संबंध स्थापित किए हैं.

पुरस्कार समिति ने भारत में अमीर और गरीब के बीच के सामाजिक और आर्थिक अंतर को कम करने के लिए उनकी 'मोदीनॉमिक्स' को सराहा है. सियोल शांति पुरस्कार सांस्कृतिक फाउंडेशन के चेयरमैन क्वॉन ई-हायोक की अध्यक्षता में सियोल के जंग-यू में हुई चयन समिति की बैठक के बाद यह फैसला लिया गया.


13. चीन ने समंदर पर विश्व का सबसे लंबा पुल बनाया

चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने 23 अक्टूबर 2018 को चीन और मकाओ को हॉन्ग-कॉन्ग से जोड़ने वाले समुद्र पर बने दुनिया के सबसे लंबे पुल का उद्घाटन किया. ये पुल 55 किलोमीटर लंबा है. चीन के शहर झुहाई को हांगकांग और मकाऊ से जोड़ने वाला विश्व का सबसे लंबा समुद्री पुल 24 अक्टूबर 2018 को सड़क यातायात को खोल दिया जाएगा. यह समुद्री पुल हांगकांग, मकाऊ और मेनलैंड चीन को जोड़ रहा है.

इस पुल में डुअल थ्री लेन है. इसकी गहराई 44 मीटर तक है. पुल का बाकी हिस्सा जमीन पर बना है. सुरंग के दोनों तरफ दो कृत्रिम द्वीप हैं. ये दोनों 10 लाख वर्ग फुट के ज्यादा इलाके में बने हैं. ये पर्ल रिवर एश्चुअरी के छिछले क्षेत्र में बना है ताकि पुल और सुरंग के इलाकों के बीच में ट्रांसिट मिल सके. समुद्र के नीचे जो सुरंग बनी है, वो 33 ब्लॉक से तैयार हुई है. 


14. चीन द्वारा वर्ष 2020 तक कृत्रिम चंद्रमा लॉन्च किये जाने की घोषणा

चीन द्वारा हाल ही में वर्ष 2020 तक अपना 'कृत्रिम चंद्रमा' लॉन्च करने की घोषणा की गई. चीन का उद्देश्य शहरों में स्ट्रीट लाइट्स को हटाने तथा शहरी क्षेत्रों से बिजली की खपत तथा लागत कम करने के लिए यह कदम उठाया जायेगा.

चीन द्वारा यह कृत्रिम उपग्रह दक्षिण-पश्चिम सिचुआन प्रांत के चेंगदू शहर में विकसित किया जा रहा है. चेंगदू एयरोस्पेस साइंस एवं टेक्नोलॉजी माइक्रोइलेक्ट्रॉनिक्स सिस्टम रिसर्च इंस्टीट्यूट कंपनी लिमिटेड के चेयरमैन वू चुनफेड द्वारा इस बात की घोषणा की गई.


15. भारत में एक साल में 7300 नये करोड़पति बने: क्रेडिट सुइस रिपोर्ट

वित्तीय सेवा कंपनी क्रेडिट सुइस द्वारा जारी एक रिपोर्ट के अनुसार भारत में बढ़ती असमानताओं और चिंताओं के बीच देश में करोड़पतियों की तादाद तेजी से बढ़ रही है. क्रेडिट सुईस द्वारा जारी एक रिपोर्ट के अनुसार पिछले एक साल में भारत में करोड़पतियों के क्लब में 7,300 नए लोग जुड़े हैं.

इस प्रकार भारत में करोड़पतियों की संख्या लगभग 3.43 लाख हो चुकी है, जिनके पास सामूहिक रूप से करीब 6 ट्रिलियन डॉलर अर्थात लगभग 441 लाख करोड़ रुपये की धनराशि मौजूद है. रिपोर्ट के अनुसार भारत सबसे अधिक महिला अरबपतियों (एक अरब डॉलर यानी 73.5 अरब रुपये से ज्यादा संपत्ति वाली अमीर महिलाओं) वाले देशों में शामिल है.


16. बिहार की ‘शाही लीची’ को जीआई टैग प्राप्त हुआ

बिहार के मुजफ्फरपुर में उगाई जाने वाली ‘शाही लीची’ को हाल ही में राष्ट्रीय स्तर पर पहचान प्राप्त हुई है. बौद्धिक संपदा कानून के तहत ‘शाही लीची’ को अब जीआई टैग (जियोग्राफिकल आइडेंटिफिकेशन) दे दिया गया है. 

बिहार लीची उत्पादक संघ ने जून 2016 को जीआई रजिस्ट्री कार्यालय में ‘शाही लीची’ के जीआई टैग के लिए आवेदन किया था. जीआई टैग मिलने से ‘शाही लीची’ की बिक्री में नकल या गड़बड़ी की आशंकाएं काफी कम हो जाएंगी. बिहार की लीची की प्रजातियों में चायना, लौगिया, कसैलिया, कलकतिया सहित कई प्रजातियां है लेकिन शाही लीची को श्रेष्ठ माना जाता है. 


17. #MeToo आरोपों से घिरे विदेश राज्यमंत्री एमजे अकबर ने इस्तीफा दिया


#MeToo आरोपों से घिरे विदेश राज्यमंत्री एमजे अकबर ने 17 अक्टूबर 2018 को इस्तीफा दे दिया. उनके ऊपर अब तक 20 महिला पत्रकारों ने #MeToo अभियान के तहत आरोप लगाए हैं. इससे पहले एमजे अकबर ने 14 अक्टूबर 2018 को अपने आधिकारिक विदेश दौरे से देश वापसी पर बयान जारी कर आरोपों पर अपना पक्ष रखा था. उन्होंने आरोपों को बेबुनियाद बताया था.

अकबर पर पहला आरोप वरिष्ठ पत्रकार प्रिया रमानी ने लगाया था, जिसमें उन्होंने एक होटल के कमरे में इंटरव्यू के दौरान की अपनी कहानी बयां की थी. भाजपा सरकार के साढ़े चार साल के कार्यकाल में पहली बार किसी मंत्री ने इस्तीफा दिया है. एमजे अकबर पर अनेक आरोप लगाए गए कि जब वह विभिन्न प्रकाशनों के संपादक के पद पर तैनात थे तो उन्होंने कई महिलाओं का यौन उत्पीड़न किया था.
18. हिमाचल प्रदेश में सुरंग के अंदर देश का पहला रेलवे स्टेशन बनेगा

हिमाचल प्रदेश में सुरंग के अंदर रेलवे स्टेशन बनाया जाएगा जो देश में इस तरह का पहला स्टेशन होगा. हिमाचल प्रदेश के केलांग में बनने वाला यह स्टेशन समुद्र तल से तीन हजार मीटर की ऊंचाई पर होगा. रेलवे के अधिकारियों के अनुसार परियोजना की लागत 83,360 करोड़ रुपये आंकी गई है. इस रेलमार्ग के लिए अंतिम सर्वेक्षण 30 महीनों में पूरा होने की उम्मीद है.

यह चीन और भारत सीमा के लिहाज से रणनीतिक महत्व के भानुपल्ली-बिलासपुर-मनाली-लेह रेलमार्ग का हिस्सा है. कोलकाता एवं दिल्ली में कई ऐसे मेट्रो स्टेशन हैं जो जमीन के अंदर बने हैं, लेकिन देश में जल्द ही अब एक रेलवे स्टेशन भी ऐसा होगा जो सुरंग के भीतर बनाया जाएगा.


19. एना बर्न्स ने उपन्यास ‘मिल्कमैन’ के लिए मैन बुकर पुरस्कार 2018 जीता


उत्तरी आयरलैंड की लेखिका एना बर्न्स को वर्ष 2018 के मैन बुकर प्राइज से सम्मानित किया गया है. उन्हें उनके उपन्यास ‘मिल्कमैन’ के लिए यह सम्मान दिया गया है. इस घोषणा के साथ ही एना बर्न्स इस पुरस्कार को जीतने वाली पहली नॉर्दन आईरिश लेखिका बन गई हैं. यह उनका तीसरा उपन्यास था.

बर्न्स को इस पुरस्कार के साथ 50 हजार पाउंड भी दिए जाएंगे. बर्न्स की किताब को लेकर जजों ने कहा कि मिल्कमैन अद्भुत किताब है. साथ ही उन्होंने कहा कि इस किताब में उस युवती के दर्द का बखूबी अहसास कराया गया है. एना बर्न्स 56 वर्षीय आइरिश लेखिका हैं. वह 1987 में लंदन में रहने लगी थीं. उनकी पहली किताब 'नो बोंस' थी. उनके बाकी उपन्यासों में 'लिटिल कंस्ट्रक्शंस' और 'मोस्टली हीरोज' हैं.


20. सिक्किम ने संयुक्त राष्ट्र से विश्व के पहले पूर्ण जैविक राज्य का पुरस्कार प्राप्त किया


सिक्किम ने 15 अक्टूबर 2018 को संयुक्त राष्ट्र समर्थित फ्यूचर पॉलिसी अवार्ड (FPA) जीता. सिक्किम को यह पुरस्कार राज्य को पूर्ण रूप से जैविक राज्य में तब्दील करने के लिए बनाई गई नीतियों के कारण दिया गया है.

पुरस्कार आयोजकों ने इस अवसर पर कहा कि  राज्य की नीतियों से जहां 66,000 किसानों को फायदा हुआ है. वहीं पर्यटन को बढ़ावा देने के साथ ही अन्य देशों के लिए उदाहरण भी प्रस्तुत किया है. सिक्किम के मुख्यमंत्री पवन कुमार चामलिंग ने यह पुरस्कार ग्रहण किया.


21. उत्तर प्रदेश सरकार ने ‘इलाहाबाद’ का नाम बदलकर ‘प्रयागराज’ किया

उत्तर प्रदेश सरकार ने 16 अक्टूबर 2018 को इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज किये जाने के प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान कर दी है. उत्तर प्रदेश के इस प्रमुख शहर को अब नए नाम प्रयागराज से ही जाना जाएगा. पौराणिक और धार्मिक महत्व को देखते हुए वर्षों से इलाहाबाद का नाम प्रयागराज करने की मांग उठती आ रही थी. मगर इस पर कभी भी अंतिम निर्णय नहीं लिया गया था. 

माना जाता है कि मुगल बादशाह अकबर ने प्रयाग का नाम बदल कर इलाहाबाद (अल्लाह आबाद) किया था. साथ ही, हाल ही में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि संत लगातार इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयाग करने की मांग उठा रहे थे. इलाहाबाद में भी देवभूमि से निकलने वाली दो पवित्र नदियां मिलती हैं इसलिए इसे प्रयागराज कहा जाता है.


22. ग्लोबल हंगर इंडेक्स 2018: भारत को 103वां स्थान प्राप्त हुआ

हाल ही में ग्लोबल हंगर इंडेक्स रिपोर्ट-2018 जारी की गई है. रिपोर्ट के अनुसार भारत में अब भी काफी भुखमरी मौजूद है. ग्लोबल हंगर इंडेक्स-2018 में कुल 119 देशों को शामिल किया गया जिसमें भारत 103वें पायदान पर है.

भारत नेपाल और बांग्लादेश जैसे देशों से पीछे है, लेकिन पाकिस्तान से आगे है. पाकिस्तान इस रिपोर्ट में 106वें स्थान पर मौजूद है जबकि भारत पिछले वर्ष 100वें स्थान पर था. रिपोर्ट के अनुसार विश्व में 68 मिलियन लोग रिफ्यूजी कैंप में रहने को मजबूर हैं.


23. विश्व आर्थिक मंच द्वारा 'फ्यूचर ऑफ़ वर्क इन इंडिया' रिपोर्ट जारी की गई

विश्व आर्थिक मंच द्वारा हाल ही में “फ्यूचर ऑफ़ वर्क इन इंडिया” रिपोर्ट जारी की गई. इस रिपोर्ट में कहा गया है कि जो कम्पनियां तेज़ी से विकास कर रही हैं वे पुरुषों को बतौर कर्मचारी रखना अधिक पसंद करती हैं. यह रिपोर्ट विश्व आर्थिक मंच की ओर से आब्जर्वर रिसर्च फाउंडेशन (ओआरएफ) द्वारा तैयार की गई है. रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत द्वारा पर्याप्त नये अवसर तथा संभावनाएं मौजूद हैं.

भारत में रोज़गार सृजन काफी तीव्र गति से हो रहा है लेकिन देश की केवल 26 प्रतिशत महिलाएं ही कार्यक्षेत्र में प्रवेश कर रही हैं, यह वैश्विक स्तर से काफी नीचे है. रिपोर्ट के अनुसार प्रत्येक तीन में से एक कंपनी महिलाओं की अपेक्षा पुरुषों की काम पर रखने में प्राथमिकता देती है जबकि दस में से एक कंपनी ही महिलाओं को काम पर रखने के लिए प्राथमिकता देती है.


24. कोंकण के अल्फोंसो आम को जीआई टैग प्रदान किया गया


महाराष्ट्र के रत्नागिरी, सिंधुदुर्ग, पालघर, ठाणे और रायगढ़ जिलों में पैदा होने वाले अल्फोंसो आम को हाल ही में ‘भौगोलिक चिन्ह’ (जीआई) के तौर पर पंजीकृत किया गया है. भारत में पहला जीआई टैग दार्जिलिंग चाय को 2004 में दिया गया था और देश में इस टैग को हासिल करने वाले कुल उत्पादों की संख्या 325 हैं.

हाल ही में वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री सुरेश प्रभु ने भारतीय वस्तुओं के भौगोलिक चिन्ह के लिए ‘लोगो और टैगलाइन’ को लॉन्च करते हुए कहा कि इससे कलाकारों उत्पादनकर्ताओं की बौद्धिक संपदा का उनका अधिकार तथा उस उत्पाद के उत्पत्ति को सही अधिकार मिल सकेगा.


25. भारत और रूस के मध्य एस-400 मिसाइल सिस्टम सहित 8 समझौतों पर हस्ताक्षर

अमेरिकी प्रशासन की ओर से प्रतिबंध की चेतावनी के बावजूद भारत और रूस ने 05 अक्टूबर 2018 को एस-400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम की खरीद हेतु समझौते पर हस्ताक्षर किये हैं. इसके अतिरिक्त रूस और भारत के बीच अंतरिक्ष में सहयोग हेतु एक समझौते पर दस्तखत किए गए. 

अंतरिक्ष सहयोग में हुए समझौते के तहत, रूस के साइबेरिया के नोवोसिबिर्स्क में भारत एक मॉनिटरिंग सेंटर बनाएगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के बीच दिल्ली के हैदराबाद हाउस में हुई द्विपक्षीय वार्ती के दौरान इस समझौते पर मुहर लगाई गई. इसके अतिरिक्त रूस ने भारत के गगनयान मिशन में सहायता दिए जाने का भी भरोसा जताया है.


26. जस्टिस रंजन गोगोई ने सुप्रीम कोर्ट के 46वें मुख्य न्यायाधीश का पदभार संभाला

सुप्रीम कोर्ट के सबसे वरिष्‍ठ जज जस्टिस रंजन गोगोई ने 03 अक्टूबर 2018 को सुप्रीम कोर्ट के मुख्‍य न्‍यायाधीश का पदभार संभाला. उन्हें राष्ट्रपति भवन में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने पद की शपथ दिलाई.

इसके बाद वो सुप्रीम कोर्ट में जस्टिस संजय किशन कौल और जस्टिस के एम जोसेफ के साथ केसों की सुनवाई करेंगे. जस्टिस गोगोई इस पद पर पहुंचने वाले पूर्वोत्‍तर भारत के पहले मुख्‍य न्‍यायधीश हैं. जस्टिस गोगोई देश के 46वें प्रधान न्‍यायाधीश हैं और 17 नंवबर 2019 तक उनका कार्यकाल होगा.


27. नोबेल पुरस्कार 2018: विलियम डी नॉर्डहॉस और पॉल एम रोमर अर्थशास्त्र श्रेणी में विजेता घोषित


नोबेल पुरस्कार समिति द्वारा अमेरिकी अर्थशास्त्री विलियम डी नॉर्डहॉस और पॉल एम रोमर को संयुक्त रूप से वर्ष 2018 का अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार देने की घोषणा की गयी है. मेडिसिन, फिजिक्स, केमेस्ट्री और शांति श्रेणी में नोबेल पुरस्कार की घोषणा के बाद अब अर्थशास्त्र में पुरस्कारों की घोषणा की गई है. 

रॉयल स्वीडिश एकेडमी ऑफ इकोनॉमिक्स ने जलवायु परिवर्तन और आर्थिक विकास पर खोज के लिए इन्हें यह पुरस्कार देने का फैसला किया है. दोनों अर्थशास्त्री, विलियम डी नॉर्डहॉस और पॉल एम रोमर, मैक्रोइकनॉमिक्स (सूक्ष्म अर्थशास्त्र) से संबंध रखते हैं. उन्होंने प्रकृति और मार्केट इकनॉमी के बीच के संबंध को विस्तार देने वाले मॉडल बनाए हैं. साथ ही जलवायु परिवर्तन से होने वाले नुकसान को रोकने के तरीकों पर खोज की है.


28. नोबेल शांति पुरस्कार 2018: डेनिस मुकवेगे तथा नादिया मुराद की नाम की घोषणा


नोबेल पुरस्कार चयन समिति ने 05 अक्टूबर 2018 को शांति क्षेत्र में कार्य करने के लिए डेनिस मुकवेगे तथा नादिया मुराद को पुरस्कृत किये जाने की घोषणा की. नादिया मुराद उन तीन हजार यजीदी लड़कियों में शामिल हैं, जिन्हें इस्लामिक स्टेट की कैद रहना पड़ा. आईएस के लोगों ने उन्हें हर तरह से प्रताड़ित किया. 

बता दें कि इन दोनों ने यौन हिंसा को युद्ध के हथियार की तरह इस्तेमाल होने के खिलाफ प्रयास में अपना बड़ा योगदान दिया है. गौरतलब है कि नादिया मुराद मलाला युसूफजई के बाद दूसरी सबसे कम उम्र की नोबेल पुरस्कार विजेता हैं. मलाला युसूफजई को वर्ष 2014 में 17 साल की उम्र में नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया था.


29. नोबेल पुरस्कार 2018: रसायन विज्ञान श्रेणी के लिए तीन वैज्ञानिकों के नाम की घोषणा


नोबेल पुरस्कार चयन समिति ने 03 अक्टूबर 2018 को तीन वैज्ञानिकों को रसायन विज्ञान श्रेणी में पुरस्कृत किये जाने की घोषणा की. इन वैज्ञानिकों में अमेरिकी वैज्ञानिक फ्रांसेस अर्नोल्ड (Frances H Arnold), जॉर्ज पी स्मिथ (George P Smith) और ब्रिटिश अनुसंधानकर्ता ग्रेगोरी विंटर (Gregory P Winter)  शामिल हैं.

रसायन विज्ञान श्रेणी के नोबेल पुरस्कार विजेताओं में एक महिला और दो पुरुष वैज्ञानिक हैं. रॉयल स्वीडिश अकैडमी ऑफ साइंसेज ने कहा कि इस साल जिन तीन हस्तियों को रासायन के क्षेत्र में नोबेल प्राइज के लिए चुना गया है उन्होंने एंजाइम्स और ऐंटीबॉडीज को विकसित करने के लिए क्रमिक विकास की शक्ति का इस्तेमाल किया है जिससे नए फार्मास्युटिकल और बायोफ्युल का निर्माण हुआ है.


30. नोबल पुरस्कार 2018: चिकित्सा तथा भौतिकी क्षेत्र में पुरस्कार विजेताओं की घोषणा

नोबेल पुरस्कार समिति द्वारा 02 अक्टूबर 2018 को भौतिकी के नोबेल पुरस्कारों की घोषणा की इस बार भौतिकी का नोबेल तीन लोगों को दिया जाएगा, जिसमें आर्थर अशकिन और गेर्राड मौरोउ और डोना स्ट्रिकलैंड का नाम शामिल है. 

इस पुरस्कार में आधा भाग आर्थर अशकिन जबकि आधे भाग में से गेर्राड मौरोउ और डोना स्ट्रिकलैंड को सम्मानित किया गया है. नोबेल पुरस्कार इन वैज्ञानिकों को लेजर भौतिकी के फील्ड में अहम अविष्कार करने के लिए दिया गया है. डोन्ना स्ट्रिकलैंड भौतिकी का नोबेल पुरस्कार प्राप्त करने वाली तीसरी महिला वैज्ञानिक हैं.

एमआईटी वैज्ञानिकों ने बेहद सूक्ष्म रोबोट विकसित किया 

 

मैसेचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी (एमआईटी) के वैज्ञानिकों ने हाल ही में अतिसूक्ष्म रोबोट विकसित किया है जिसका उपयोग आयल या गैस पाइपलाइन की निगरानी अथवा मानव शरीर में रोग के निदान में किया जा सकता है. 

गौरतलब है कि इस रोबोट का आकार लगभग 10 माइक्रोमीटर है. इसके अतिरिक्त वैज्ञानिकों ने उस तरीके की भी खोज कर ली है जिसकी सहायता से ऐसे रोबोटों का बड़े पैमाने पर उत्पादन किया जा सकता है.

एमआईटी की खोज के प्रमुख तथ्य

•    इन बेहद छोटे रोबोटों का नाम ‘सेनसेल्स’ रखा गया है (Synthetic Cells) रखा गया है.

•    वैज्ञानिकों ने इस अतिसूक्ष्म रोबोट की बाहरी संरचना के निर्माण में कार्बन तथा ग्राफीन के द्वि-विमीय प्रारूप का उपयोग किया है.

•    मैसेचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी (MIT) के एक प्रोफेसर के अनुसार, यह रोबोट किसी जीवित जैविक कोशिका की तरह ही व्यवहार करता है.

•    बड़ी मात्रा में ऐसे छोटे रोबोटों को बनाने का आधार परमाणु की तरह पतले, भंगुर सामग्री का प्राकृतिक रूप से टूटने (natural fracturing) की प्रक्रिया को नियंत्रित करने में निहित है. 

•    वैज्ञानिक 'स्वतः छिद्रण' के माध्यम से 'फ्रैक्चर लाइनों' को सीधे निर्देशित करते हैं ताकि वे अनुमानित आकार और आकृति के कम-से-कम पॉकेट उत्पन्न कर सकें.

•    इन पॉकेट्स के अंदर ऐसे इलेक्ट्रॉनिक सर्किट और सामग्रियों के साथ रोबोट जुड़े होते हैं जो आँकड़ों को एकत्रित तथा संगृहीत कर सकते हैं.

खोज के लाभ

•    यह रोबोट तेल और गैस पाइपलाइन के अंदर की स्थिति की निगरानी करने तथा रक्त के साथ प्रवाहित होते हुए मानव शरीर में रोगों का निदान करने में सक्षम हैं. 

•    इन रोबोटों के उत्पादन की प्रक्रिया का इस्तेमाल कई अन्य क्षेत्रों में भी हो सकता है.

•    यह बिना किसी बाहरी सहायता के आँकड़ों को जुटाने में सक्षम है.

No comments yet...

Leave your comment

15126

Character Limit 400